A huge collection of free porn comics for adults. Read desiindianbhabi.com Comics/Savita Bhabhi online for free at www.desiindianbhabi.com Desi Indian Bhabi is the official home of your favorite Savita Bhabhi Porn Toons. Desi Indian Bhabi features Comics or animation of Indian origin primarily featuring Indian sexuality.

Sunday, 28 August 2016

Shocking गिफ्ट मैं मिला बड़ा सा लंड

दोस्तों मैंने आपके लिए एक और नयी कहानी लेकर आया हु ! ये मेरी सच्ची कहानी है !जो मैं आपको सुनाने जा रहा हु उम्मीद करता हु की ये स्टोरी आपको जरूर पसंद आएगी !
desi indian bhabhi stories
सबसे पहले मैं आपको ये बताऊंगा  ये स्टोरी कहा से शुरू होती है ! जब मैं और मेरी दीदी एक रूम मैं और मम्मी पापा एक रूम मैं सोते थे ! मैं दीदी के बाजु मैं सोया करता था जब मुझे नींद लग जाती तो मेरी दीदी मेरा छोटा सा लंड निकाल कर उसे सहलाती और अपने सारे कपडे उतार देती ! एक दिन जब मेरी रात मैं नींद खुली तो मैंने देखा की  दीदी मुझे नंगा करके मेरे लंड को चूस रही है और वो भी पूरी तरह से नंगी थी ये सब देखकर मैं 
Bhabhi
थोड़ा दर गया अब मेरा भी लंड एक दम से खड़ा हो गया और दीदी भी पूरी गरम होगयी थी उन्होंने मुझे देखा नहीं की मैं सोया हु या नहीं और मेरा हाथ लिए और अपने बड़े बड़े बॉब्स को मेरे हाथो से सहलाने लगी अब मैंने भी थोड़ी सी हिम्मत की और  मैंने भी उसे सहलाने लगा दीदी को इस बात का होश बिलकुल भी नहीं था की क्या कर रहा हु वो बस आह आह आह और करो ऐसे अजीब आवाजे निकाल रही थी मैं समझ  गया की दीदी अब फुल मुड़ मैं है !Desi Bhabhi
Desi Stories
मैं भी उसकी चुचिया को जोर जोर से मसलने लगा शायद दी को बहुत मज़ा आरहा था ! आह आह आह बहुत अच्छे  भाई ऐसा कहकर उसने मुझे देखा की मैं सोया नहीं हु वो जैसे ही मुझे देखा तो वो शर्मा गयी और बेड पर जो रजाई पड़ी हुई थी उससे अपने आप को ढक लिया कहा भाई किसी को मत बताना मैंने उस रजाई को उसके बदन से निकल दिया और कहा दीदी तुम खुश तो मैं खुश फिर वो भी समझ गयी  कह रहा हु !

फिर उसने मुझे एक किस्स किया और मुझे अपने बॉब्स को चूसने को कहा की ले भाई आम चूस  मैं भी है दीदी आपके आम तो चूसूंगा और उन्होंने खुद मेरे पास आकर मेरे मुहमे उनके चुचिया दे दी क्या चुचिया थी मैं भी मज़े से चूस रहा था !indian bhabhi stories
Savita
ऐसा थोड़ी देर चला फिर दीदी ऐसा ही थोड़े दिन तक चलता रहा दोस्तों तब रोज रात को वो मेरे लंड से खेलती और मैंने उनकी चूचियों से खेलता, वो भरपूर जवानी में थी, उसके बाद बात थोड़ी और बढ़ी वो अब अपने चूचियों के निप्पल के मेरे मुह में देती और मैं खूब अछि तरह से रोज रोज पीता, चूचियों से कुछ निकलता तो नहीं पर मेरा लंड से कुछ कुछ निकलने लगा. और मुझे बहूत ही बढ़िया लगता और दीदी फिर अपने चूत में शायद ऊँगली डालती और जोर जोर से पलंग मेरा हिलने लगता और वो फिर शांत हो जाती और फिर सो जाती. यही सिलसिला चलता रहा, पर मैं दूध पिने से आगे नहीं गया.!Savita Stories
Comic Savita
फिर कुछ दिनों बाद मेरे दीदी की शादी होगयी और वो अपने ससुराल चली गयी मैं वहा पर गया था लेकिन बस नॉर्मली कुछ दिनों मैं वहा से वापस आगया फिर मैं अपनी अधूरी पढाई पूरी करने के लिए दिल्ली चला गया लेकिन मैं हर रात को कुछ मिस कर रहा था उसकी मुझे बहुत याद आरही थी वो दीदी के बॉब्स याद आते उसके होठ जिसें मैं किस्स करता वो सब मुझे याद आरहा था जिस वजह से मुझे रात को नींद मुझे ऐसा लग रहा था जैसे की मैं उसके बिना एक पल नहीं रह सकता !फिर कुछ दिन ऐसे ही बिट गए मुझे दीदी की याद बहुत सताने लगी
Stories Hindi
 कभी कभी तो मुझे ऐसा लगता की मैं उसके बिना एक पल भी नहीं रह सकता था !मुझे लगा की अगर मैं फिर से पहल करूँ तो वो पुरानी चीजें फिर से हो सकती है वापस आ जाये और मुझे फिर से बहन के साथ वैसा ही रोमांस का मौक़ा मिल जाये, मैंने ये बात बस रक्षा बंधन के दस दिन पहले ही सोचा था और मैंने तुरंत ही माँ को फ़ोन किया की मैं इस बार राखी बँधबाने बहन के यहाँ जाऊंगा. और प्लान बना लिया वह जाने का !Savita Bhabhi Episode
Savitha Comic
फिर मैं रक्षा बंधन के दिन वह गया वैसे भी मैं तो पुरे प्लान के साथ तैयार था दीदी के पास जाने के बाद दीदी ने मुझे राखी बाँधी और मैं उन्हें गिफ्ट दिया तभी वहा मेरे जीजा जी आये और साथ मैं २५  की औरत थी मैंने कहा जीजा जी कैसे हो है ठीक हु मैं बाहर जा रहा हु तुम यही रुकना कही जाना मत मुझे कुछ समझ नहीं आया की उनके साथ वो औरत कोण थी और वो दोनों वहा से निकल गए ! फिर मुझे दीदी ने पूरी बात बताई की ये उनकी दूसरी औरत है !भाई मैं बहुत परेशान हु !Sabhita Bhavi
indian bhabhi sex stories
कुछ समझ नहीं आरहा की मेरे होते हुए वो किसी और के साथ वो भी मेरे सामने लेकर जा रहे है बता भाई  तू की क्या कमी है मुझमे मैं तो अंदर से बहुत खुश था की जैसा मैंने प्लान बनाया उसकी मुझे कोई जरूरत नहीं है ! दीदी हमेशा अकेली ही रहती है और वो जो उनकी दूसरी वाली थी वो दिखने मैं दीदी से बहुत हॉट थी जिस वजह से जीजा का दीदी पे कोई तवज्जु नहीं दे रहे थे !
Bhabhi Video
मैंने कहा दीदी तुम घबराव मैं हुना इस बात पर वो मेरे गले लग गयी मैंने भी उसे समझाया की इसका कोई न कोई रास्ता जरूर निकलेगा !रात को मैं दीदी दोनों खाना खाये और बात करने लगे, वो मेरे बारे में पूछने लगी, की तू फ़ोन नहीं करता है, मैंने कहा दीदी मैं एग्जाम की तैयारी कर रहा हु, इस वजह से मैं कॉल नहीं कर पा रहा था.!Hindisex Stories
Saxy Storys
दीदी कहने लगी जानते हो पहले का ही लाइफ अच्छा था, जब हम वह थे सब कुछ बहूत अच्छा था पर यहाँ आकर मेरी ज़िन्दगी ख़राब हो गई, कितना मस्ती करते थे, हमलोग याद करो, वो अपने पुराने दिन, मैंने कहा दीदी जीजाजी दूसरी शादी क्यों कर लिए है, तो वो कहने लगी की तुम्हारे जीजाजी बूर चट है, मैंने कहा बूर चट? बोली हां उसको एक से मन नहीं भरता है इसलिए और भी चाहिए, बता तू ही पता मुझमे क्या कमी है, मेरे में क्या नहीं है जो उस चुड़ैल पे पास है, मैं कहा दीदी आप तो बहूत हॉट हो, पर जीजाजी को दिखाई नहीं देता है, तब दीदी बोली भाई मैं अपने घर में ही खुश थी मम्मी पापा और तुम्हारे साथ. मैंने हिम्मत कर के सोचा की पुरानी बात बताई जाये, मैंने धीरे धीरे बात छेड़ दिया, दीदी हम दोनों साथ सोते थे कितना मजा आता था? याद है आपको, दीदी सर झुक ली, बोली हां याद है, वो भूलती नहीं बस उसी को याद करके तो ज़िंदगी काट रही हु.
porn Stories

मैंने कहा की दीदी हम कुछ दिन अपने पहले जैसे बिता सकते है अगर जीजा जी जल्दी नहीं आये तो चलो जल्दी से तभी दीदी मुझे बताया की वो दोनों गए है अब वो कम से कम १० दिन तो नहीं आएंगे जाकर उसके साथ मज़े करेंगे अब मैं तो बाउट खुश था की मैं दीदी को १० दिन तक साथ रहूँगा ! मैंने दीदी से कहा दीदी जाने दो जो हुआ सो हुआ हम तो आज रात का मज़ा लेंगे आज रक्षा बंधन है !जिसमे भाई बहन के प्यार है !आज से हम शुरुआत करेंगे  और दीदी बोली लव यू माय डिअर, मैंने भी लव यू माय जान कहा और हम दोनों एक दूसरे के गले लग गए, दोस्तों दो जवान और तनहा जिस्म अगर एक दूसरे में चिपके तो आप समझ सकते है की क्या हाल होता होगा, मैं तो दूसरी दुनिया की सैर करने लगा, Adult Stories
Errotic Stories
धीरे धीरे उनकी बूब्स की गर्माहट को मैं अपने सीने पे महसूस करने लगा, धीरे धीरे हम दोनों के होठ एक दूसरे के होठ को चूमने लगे, दीदी बोली रूक जा मैं बाहर के सारे दरवाजे और खिड़की बंद कर के आती हु, और वो कुछ देर के लिए बाहर गई और सारे दरवाजे और खिड़की बंद कर दी, जब वो आई तब तक मैं सिर्फ जांघिया पर आ गया था और मेरा लंड जांघिया के अंदर तंबू बना चूका था, वो अंदर आते ही मेरे जवान शरीर को देखि फिर वो तंबू को देखि, फिर बोली भाई तू तो गजब का हॉट हो गया है, पहले तो मैं सब कुछ देख चुकी हु पर अब तो बात कुछ और ही है. और दीदी तुरंत मेरा जांधिया को निचे कर दी.Exotic Stories
Stories Online
वो तुरंत ही लंड को पकड़ ली, और बोली मैंने इसे काफी मिस किया, आई लव, और वो चूसने लगी, मैंने भी काफी दिन बाद चुसवा रहा था तो मेरे शरीर में सिहरन हो रही थी, और फिर मैंने दीदी को उठाया और उनके एक एक कर के सारे कपडे उतार दिए, और उनको बेड पर लिटा दिया, वही सब कुछ, वैसा ही सब कुछ, !
Adult Short
चूचियां थोड़ी और बड़ी हो गई थी और शरीर थोड़ा गदरा गया था, गजब की लग रही थी, मैंने आब देखा ना ताब और मैं सीधे उनके चूत को चाटने लगा, दीदी बोली आज तू मुझे खुश कर दे, और मैंने कहा आज क्या अभी सात दिन तक मैं आपको खुश करूँगा, और मैंने जीभ उनके चूत पे डाल कर चाटने लगा. दोस्तों पहली बार मैंने चूत का रस चखा था. गजब का नमकीन एहसास था, फिर दीदी बोली भाई आज मुझे चोद दे, आज मैं तृप्त होना चाहती हु, आज मुझे इतना चोद की आने बाले दो तीन साल तक लंड की जरूरत ना पड़े, मैंने कहा दीदी अब चिंता नहीं करो मैं हु ना तुम्हे दो तीन साल इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा. 
Eroctic
और फिर मैंने देर ना करते हुए अपना लंड उसकी चूत पर सेट कर दिया और जोर से एक झटका दिया जिसकी वजह से पहली बार मैं ही पूरा लंड अंदर घुस गया आज मैं पहली बार चूत चोद रहा  था ! पर वो कई बार अपनी चूत थी वो इस काम के काफी समझदार थी वो अपनी गांड को उठा उठाकर चुदवाने  लगी मैं भी अपना जो लंड कुछ देर बाद वो आह आह आह आह करने लगी शायद वो अपनी इच्छा जाहिर कर रही थी की वो सेक्स की कितनी प्यासी है !Errotic Literature
Adult

 आह चोद दे आह आह और जोर से और जोर से आज मेरे चूत को फाड़ दे, आज मुझे रखैल बना ले, और मैं भी गाली देने लगा, साली आज नहीं छोड़ूगा, और मैं भी बहूत ज्यादा वाइल्ड हो गया, मैं उनको घोड़ी बना दिया, और पीछे से चोदने लगा, उनकी बड़ी चौड़ी गांड के पीछे से धक्का लगाने लगा, वो भी हाय हाय उफ़ उफ़ कर रही थी और जोर जोर से चुदवा रही. थी, करीब ये सिलसिला १ घंटे तक चला मैं खूब चोदा फिर मैं झड़ गया, पर दीदी अपने चूत में झड़ने नहीं दो वो मुह में लंड को लेके सारे माल को पि गई और जो मेरे लंड पे लगा था उसको भी अपने जीभ से चाट चाट कर साफ़ कर दी.Read Adult


ये सिलसिला करीब १० दिन एक चला इन दस दिनों मैं कमसे कम ४० बार चोद चूका और १० बार गांड मारी थी इन दिनों मैं हम नंगे ही सोते और एक साथ नहाते मैं इस बात को कभी नहीं भूल सकता मैं सच कह रहा हु की ये चुदाई हमेशा याद रहेगी फिर जीजा जी अपनी दूसरी वाली के साथ आये तब मैं वह से निकल गया ! Erotc Literature










Share:
Copyright © Indian Bhabhi Hindi Incest Savita Vellamma Naughty Sex Stories | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com