DesiIndianBhabi.com chudai, story desi kahani, hot kahani, hindi hot story, hot hindi kahani, desi hindi kahani, hindi desi kahani, desi hindi story, jija sali ki kahani, desi aunty ki chudai, desi sex stories, desi arnaz, lucille ball

Saturday, 4 June 2016

खून से भरी मेरी चूत

मेरा नाम प्रीति  है मेरी उम्र  करीब 20साल है !मैं खूबसूरत लड़कियों मैं से एक हु मेरा जिस्म जवानी से भरपूर था मैं दिखने मैं भी काफी  खूबसूरत थी  लेकिन मुझे  किसी का  प्यार नहीं मिला मैं 12क्लास मैं हो लेकिन अभी सेक्स की प्यासी हु आज जो मैं आपको बताने जा रही हु वो मेरी एक कॉलेज  की कहानी है वो भी एक सच्ची कहानी जो आज मैं आपको  आज बताउंगी चलो ज्यादा बोर न करते सीधे स्टोरी पर आती हु मैं कॉलेज मैं थी तब कई लड़के मुझपर लाइन मरते थे लेकिन मैं उन्हें भाव नहीं देती थी क्युकी मुझे वैसे लड़के पसंद नहीं थे तो
desi indian bhabhi stories
 मैं किसी को भी नहीं देखती तो मेरा एक दोस्त था जिसका नाम अमित था वो उन सब लड़को से बहुत अलग था वो थोड़ा शर्मीला टाइप का था उसका रंग काला सावला था !मगर मन का साफ़ था उसका बदन भी औसतन था जब उसके होठ और उसकी आँखो का नशा देखकर पता लगता इसी वजह से कॉलेज की साड़ी लड़की उस पर मरती थी ! एक दिन उसने मुझे गलती से छुआ तब मुझे अचानक से क्या हुआ पता नहीं वो 
Bhabhi Stories
हमेशा मेरे साथ रहता था हम दोनों मिलकर कॉलेज जाते तो जिसदिन मुझे उसका जिस्म मेरे जिस्म को लगा तब मुझे उसके लिए अलग ही फिलिंग महसूस हुई जो आज मुझे कभी महसूस नहीं हुई वो अमित पर आके रुकी मैं दिन रात बस अमित के बारे मैं सोचने लगी की अमित मुझे कब आय लव यू कहेगा और कब मैं उसके बाहो मैं भरेगा कब वो मुझसे कहेगा की आज सेक्स करे कब उसका लण्ड मेरी चूत मैं होगा हमेशा उसी के बारे मैं सोच रही थी Desi Hindi
खेर ऐसे  ही कुछ दिन बिट गए एक दिन हम दोनों कॉलेज मैं बैठे थे तभी हमारे कॉलेज मैं चेकिंग अफसर आया और उसने सभी को मोबाइल अपने हवाले करने को कहा तभी अमित ने मुझे पहली बार बात की उसने कहा तुम प्रीति जोर हम दोनों एक ही बस मैं आते है ! मैंने कहा हा यार तो मेरा एक काम करो मैंने कहा क्या ये मेरा मोबाइल है !इसे अपने पास रखो मैंने उसका फ़ोन लिया और अपने मम्मो मैं छुपाया फिर थोड़ी देर 
Desi Stories
बाद मैं टॉयलेट मैं गयी और उसके मैसेज चेक करने लगी मुझे ऐसा लगा की उसकी पहले से ही एक गर्लफ्रेंड है !और मुझे उस पर बहुत ग़ुस्सा आया मैं उसे फ़ोन नहीं दिया और वहा से चली गयी और घर जाकर उसी के बारे मैं सोचने लगी घर पर कोई नहीं था सब बाहर गए हुए थे  मैं अकेली थी तभी मुझे उसका फ़ोन आया कहा हो प्रीति मैंने कहा घर पर हु तो उसने कहा यार फ़ोन आपके पास ही है !तो मैंने उसे अपना घर का अड्रेस 
indian bhabhi stories
दिया और उसे आने को कहा थोड़ी देर बाद उसने मुझे फ़ोन किया और कहा की मैं तुम्हारे फ्लैट के निचे खड़ा हुआ हु फिर मैं निचे आकर उसे फ़ोन दे दिया उसका फ़ोन को मैंने अभी तक अपने मम्मो मैं दबाकर रखा था ! मोबाइल  पूरा गिला हुआ हुआ था उसने मुझे थैंक्स कहा और चला गया फिर मैं उसी के बारे मैं सोचने लगी जब  मुझे कंप्यूटर नहीं आता था तो मैंने उसे कहा की मुझे कंप्यूटर क्लास ले लो मेरा मैंने बहुत कहने के बाद उसने हा कहा फिर एक दिन वो घर पर आया मेरा कंप्यूटर क्लास लेने के लिए मैं उसे देखकर बहुत खुश होगयी !Savita
फिर मैंने उसे कहा की मैं चेंज करके आती हु फिर मैंने एक दम ढीले कपडे पहने और ब्रा भी नहीं पहनी ताकि उसे मेरे मम्मे खुलकर नज़र आये फिर मैंने उसे पूछा तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है! उसने कहा नहीं तो मैं तुम्हे ख़राब लगती हु नहीं जी आप बहुत सूंदर हो !Savita Stories
सो स्वीट कहा और हमे पता ही नहीं चला की कब मैं उसके ऊपर थी थोड़ी देर ऐसा ही चला मैंने उसके लण्ड को ऊपर से सहलाने लगी और अपना टॉप उतार दिया और उसके सामने अपने मम्मो को खुलकर रख दिया अब मेरे लिए इससे बढ़कर कुछ नहीं था लेकिन मुझे क्या पता था !मेरे साथ आज क्या होगा जैसे ही मैंने अपने मम्मो को उसके सामने रखा उसने कहा क्या कर रही हो मुझे गर्लफ्रेंड नहीं इसका मतलब आप मेरे साथ कुछ भी करेंगी !Comic Savita
मैंने उसे बहुत रोका गलिया भी दी लेकिन वो चला गया अब मैं पूरी तरह गरम थी लेकिन अब मेरी हालत गरम भट्टी मैं ठंडा पनि डालने जैसे हो गयी अब ट्विस्ट तो यहाँ है !मैं नंगी बेड पर बैठी सोच रही थी की आखिर अमित को मुझसे क्या प्रॉब्लम होगी लेकिन मैंने अपना दरवाजा खुला ही रखा था मेरे बाजूवाले फ्लैट का लड़का ये सब देख रहा था !उसका नाम राकेश था  और वो अंदर आगया मैं अपना टॉप लिया और अपने मम्मो को छिपाया उसने कहा कोई प्रॉब्लम  है !तो उसने मेरा टॉप अपने हाथो से हटाया और सोफे पर रख 
Savitha Comic
दिया मैं समझ गयी की ये भी कुत्ता है !इसे मेरी चूत चाहिए थी!और मुझे कास के पकड़ा मैंने छुड़ाने की कोशिशki लेकिन मैं भी पूरी tarah garam हो चुकी थी बस और मैंने बिना कुछ सोचे समझे अपने आप को राकेश को सोप दिया अब वो मेरे होठो की प्यास बुझाने लगा इस बार मैं सोफे पर राकेश के निचे थी लेकिन मैं इतनी गरम थी की मुझे कोई फर्क नहीं पद रहा था ! की कोण कहा है!और वो अब मेरे गोर गोर मम्मो को चूसने लगा मुझे भी अच्छा लगने लगा क्युकी मैं सेक्स की प्यासी थी अब वो मेरे मम्मो को चूसते चूसते निचे आने लगा और मेरी स्कर्ट को निकल के मेरी पैंटी उतार दी मैं भी उसका पूरा साथ देने लगी फिर उसने अपना लण्ड निकल और मेरे मुँहमे दिया और चूसने को कहा मैंने उसे चूसा छी......!इतना गंदा स्वाद था की मैंने उसे अपने मुहसे निकाल दिया लेकिन उसने मुझे मेरी गर्दन को पकड़ा और मुँहमे लण्ड पे घिसने लगा लेकिन मैंने सिर्फ 
indian bhabhi sex stories
चुम्बन शुरू किया मेरे इतना करने के बाद उसका लण्ड अब पुरे जोश मैं आगया और किसी लोहे की राड की तरह होगया अब वो भी जोश मैं आगया और मेरी चूत अपना थूक लगाकर उसने अपना लण्ड मेरी चूत मैं लगा दिया मैं पहले ऊँगली करती थी लेकिन मेरी ऊँगली कहा और उसका इतना बड़ा लण्ड कहा ?उसने अभी थोड़ा सा ही मेरे छूट मैं घुसाया और मैं दर्द के मारे चिल्लाने लगी और देखा की मेरी छूट मैं से खून निकल रहा है !मैंने तुरंत उसका लण्ड अपने हाथो से निकाल दिया मैं बुरी तरह घबरा गयी मगर मेरी चुदाई की भूक खत्म नहीं हुई और मैं फिर से चुदने के लिए तैयार हो गयी मगर अब राकेश का लण्ड मुरझाने लगा था !तो मैंने 
porn Stories
उसपर अपना बहुत सारा थूक गिर दिया इसकी गर्मी  की वजह से उसका लण्ड दोबारा खड़ा हुआ और उसने फिर से मेरी चूत मैं अपना लण्ड घुसा दिया अब भी दर्द था लेकिन अब वो दर्द मीठा लगने लगा अब उसकी धकापेल चुदाई के बाद हम दोनों ही झड़ने वाले थे तो उसने पूछा कहा दलों मैंने कहा कहा मत डालो और उसका लण्ड हाथ मैं लेकर मुठ मार्के सारा माल उसका निकाल दिया अब हम दोनों सोफे पर गिर गए हमेक दम सुस्त हो गए थोड़ी देर बाद  वो उठा और शेम्पू लेकर बाथरूम ढूड़ने लगा और अपने लण्ड पे ढेर सारा 
Exotic Stories
फिर वो मेरी तरफ आया और मेरी गांड मैं भी ढेर सारा शेम्पू लगाया और अपना लण्ड टिका दिया और मेरी गांड मैं घुसा दिया मैं बहुत जोर से चिल्लाई लेकिन उसने पीछे से मेरे मुँहपर हाथ रख दिया और धीरे धीरे पूरा लण्ड मेरी चूतmain घुसा दिया अब मेरी आँखो से आंसू निकल रहे थे !मैंने अपनी गांडse उसका लण्ड निकालने की कोशिश की लेकिन वो नहीं माना फिर थोड़ी देर बाद मुझे भी अच्छा लगने लगा मैंने उसे अपना पानी अंदर ही छोड़ ने को कहा उसने सारा माल अंदर ही गिराया और फिर हम दोनों ने कपडे पहने फिर मैंने कॉफी बनायीं हम दोनों कॉफी पी लेकिन मुझे उसके सामने शर्म आरही थी जो कल मेरा पडोसी था  !अनजाने मैं ही सही आज से वो मेरे जिस्म का मालिक हो गया अगर अमित ऐसा नहीं करता तो मुझे इसका लण्ड लेने की जरुरत नहीं थी अगर मुझे प्यार मिलता तो मैं ऐसा कभी नहीं करती Stories Online
Share:
Copyright © Indian Bhabhi Hindi Incest Savita Vellamma Naughty Sex Stories | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com