Indian Bhabhi, Indian Bhabhis, Desi Indian Aunty Stories, Real Life Stories Of Indian Bhabhi (aunty) , College Girls Stories , Sexual Stories Of Desi Aunty.

Thursday, 15 September 2016

Six boys ripped off in front of me, my wife's pussy

Today I am going to recount to you the narrative of how my better half, she is a genuine story from alternate cockerels human Chudwaya My name is and my significant other's name is Karina! I will let you know how my life after her landing, ie Sex Life Shimla spouse said why don't we get a kick out of the chance to be his thoughts were correct! desi indian bhabhi stories 

At that point we cleared out her child with his grandma and we went to Shimla in the wake of coming to there, we booked a lodging and went out for a walk too far Agye we were meandering, she was apprehensive no broken landscape was Lmuje he said something else was going on, why don't we open today, the main sex Ionce we do all our Bajuwali Deklia Rashmi said why are you doing out so we let them know not to sex you are not embarrassed that we have a fabulous time fun you come there, so she ran away!Bhabhi Stories 

Once the night I was fucking cool mascara. That night I took one to two beverages were as much as I had some Srur, mascara I've likewise had a beverage today so he was giving an excess of fun. Try not to drink with me now and then on the mascara is running. 

Chodte mascara messy filthy things I was doing. He was giving my full. Today I had put a blue film, watching him, I was fucking mascara. 

Desi Hindi 

Bhabhi 


As the film was going and I was just mascara. Licking her pussy, sucking my chicken I have ever mascara ever I make mascara Chodta female horse ever Fadhta his rear end. We could have some good times for the entire sex. 

At that point came a scene in the film in it was a man, a young lady and the young lady sucked a cockerel sucking bitch was remaining there. At that point another man came and took the bitch fuck her in the pose.Desi Bhabhi 

Mascara additionally see and began sucking my chicken in her pussy and began finger. Proceed long after his arm was drained, so he lifted the finger!s Desi Storie

so I asked him once more, 'you let me know what you needn't bother with cockerels? Which would you favor you will pardon him! " 

Mascara was talking rapidly, 'Yes it is thick and solid goliath rooster I ought to have. " 

"Why not take a day, you'll Chudwata tremendous cockerels, they will make the sauce at your pussy." 

"Of course, right?" 

'beyond any doubt ! Chudna discreetly before me I would have wagered on a watch. "indian bhabhi stories 

"So in the event that you see me get the second rooster? " 

So what is the will of a man and tell the Chuadane. " 

"Yes, yes, even the sky is excessively fat cockerels." 

We were going to do likewise, if I somehow managed to fall so I pulled my chicken and cleared nodded off. 

Morning everything was ordinary. I went to breakfast and office. Mascara all of a sudden had a bring in the workplace amid the day, "Where are human? Would you be able to return home now?Savita 

I inquired as to why? 

"Numerous vibe! " 

"Come at night, right Chodta " 

"I don't come now, or in the endless sky, calling 'Savita Stories 

"Call" 

In saying as much, I hung the phone.Comic Savita 

what's more, I won't tell anybody inspired by a paranoid fear of their spouses and mascara will be the new Yunanubv. 

That is the point at which I called again and said mascara evening sky and call for monstrous gathering at home Drink.and I won't tell anybody because of a paranoid fear of their spouses and mascara will be the new Yunanubv. 

That is the point at which I called again and said mascara evening sky and call for enormous gathering at home Drink. 

'Why do I expect to right two of today's Chudwanae' 

"Yes, I imagine that in the event that you " 

"Think you extinguish the thirst of his chicken in my pussy had not give me a chance to taste their roosters' 

"No pussy extinguish the thirst of my life, if there is no wrong or right spouse right then husband's companion." 

In a little mascara on the privilege to them two consented to Chuadane together. Mascara was prepared for this.Stories Hindi  

Everything worked out as expected. Mascara reason to eat them both at home and I as of now called him to his concealing spot. At 7 o'clock at night there were both home. Both brought along a jug of bourbon. 

While both were perched on the lounge chair viewing a film. I had thirty minutes to hold up, if not from paradise, he gave me the telephone was. I had effectively shut my phone.Comic Savita 

"Not an exceptionally interesting man, the man that is dependably what we now tell our wine party took the entire jug." 

Colossal talked nothing I welcomed Gupta Monu and we'll get around to it will end " 

Monu and Kajal Gupta likewise said that he never heard him calling my lone companions. 

Mascara had likewise set her up. He came today to get your entire body waxed. Trimmed all the hair on her smooth molding to get away from precisely two Lndon Chuadane was edgy! 

Mascara set of underwear worn by the hot bra and skirt over her knees up and over the highest point of the neck down. I swear he's so attractive and does not turn into an issue when I'm Chodta today were two chickens fuck! 

By then the immeasurable and the sky started to drink vigorously. Mascara and sat down on the lounge chair beside him. Chuche was strolling her to turn out top. The skirt of the knee was giving the impression of taking a gander at her round thighs. 

I was watching him quietly viewed the goliath would have been seen, he was in his thighs. I wish he would truly supposing she lay on the space between the two thighs! 

They started making two beverages and third. Mascara then began saying something to eat and I'll bring you both. Roomy and sky Cuchon eat her eyes tearing from the eyes see and your legs Lgekkajl Then he sat up on the lounge chair and sat. In doing as such, them two have seen her thighs somewhat. Presently, them two especially appeared to stay there! I saw splendidly well the stakes of mascara is sitting. Presently they both need what is additionally comprehended that the mascara! 

Savita Bhabhi Episode 

Monster woke up and went to Kohl sat down and talked that way and let me know what's going on today mascara! What's more, put his hands on the thighs of telling mascara and started gradually kneads her thighs. 

Until then turned out immense chicken. It was truly very enormous cockerels. His better half does not know how she will endure. Lund assumes control until both had mascara. 

Out of those three amusements I was viewing the adolescent. Acud my significant other while I was getting my companions to me and what it would be huge blue film.Savitha Comic 

Mascara them bothRotate Lund was sucking tremendous chicken in the mouth on the off chance that it had never at any point sky. Top ups had tremendous mascara in dark bra Fat Judgment Cuche were down. 

Sky lift up the skirt of the mascara was the theory of the undies. Mascara then let him know, "What's happening with you? Here I am giving you a full hurl simply click it and you are finished! Come fill the sky today and take your sister-in-law to send down the enjoyment of youth 'Sabhita Bhavi 

The sky was at that point hot before the sky removed his garments and went totally to be bare before mascara. 

'Quite thick and long your inclination? Today, did you tear her pussy badly?indian bhabhi sex stories 

Them two likewise had gigantic long strip along the skirt of mascara bra was dispatched and took the inconceivable sky has pulled down the undies! 

Presently every one of the three are very exposed each other which were as a rule continually mascara holds with one hand and never at any point cocks gigantic cockerels in the mouth with the other hand take the sky. 

I appreciated it so much that I see all the waxed Mut.Bhabhi Video 

By then, both in mascara was conveyed to bed. There mascara on gigantic rooster bitch postured by making him the sky had officially taken his cockerel in her pussy was going Chusaye. 

Mascara chime rang and said alarm broke out when and who has come to ruin the good times? 

Erotc Literature 

Sky said most likely would have people! 

He simply won't do! 

At that point who will come! 

"I will telephone them called Monu and Gupta " 

"What might take longer fun of my childhood!" Mascara cite the film has not by any means began yet and you have the interim! " 

"So what we two are companions, there's two of my ruler and I will hit the nail on the head, so great today getting a charge out of the" mammoth said. 

Hindisex Stories 

Mascara thought no doubt why not likewise genuine where two interesting men go back and forth from the Acud am there, so what's the issue with the two! We should get the two additionally again!Go out and acquired them both the sky. He comprehended everything when they come inside the open and mascara bare. 

"Come to me you bare lords likewise get included in my pussy and ass ride " 

"Your sister needed to get stripped pussy fuck! Today, the G-filled night Chodunga 'Monu came inside bare said. 

Errotic Literature 

Gupta's energy is presently my significant other stripped in bed exposed every one of the four of the men uncovered Fat chickens prepared to play kabaddi was lying amidst sex. Monu first 50% of his cockerel inside her pussy slammed parched. 

Monu ouch dead pooch Hhhhhr your canine is corpulent Cocks' 

"Today Gupta thou double-cross your roosters! How are you not tasted all your " 

Saxy Storys 

Kajal Gupta began sucking cocks. 

"Won't that I don't need all together diverse cocks no! 'Mascara whole quote from Josh. 

I am being a bitch, where the gap at which the two immediately slammed his chicken " 

Perused Adult  

Mascara bitch postured between the four came. porn Stories 

Monu then descended and took my mascara and slammed his cockerel in her pussy. 

Mammoth came behind her butt and put his rooster in her can gradually pushed inside.Adult Stories 

My significant other could take a four roosters! 

Gupta additionally put his rooster in her mouth. 

Errotic Stories 

Presently the sky was left paradise and took his cockerel Mascara said, "No, I Marungi Mut thy sky, the first of these three Jdega then come thou! 

Four are starting now, "kicked the bucket Aaः Ahhhchha year! Camino! Today you have killed mascara! " 

"Aha Uiii coming or what it is separated from everyone else amidst four Lndon Ahhh Cut 

'Shake Monu Gupta tearing ass around today live pussy ass leave today not completely make you well today? " 

Intriguing Stories 

'Gone ahead ! Gone ahead ! Immense sky! How would you pivot the employment by sucking cocks tingle! " 

'Ahaaya was enjoyable! " 

"What's more, don't slaughter pussy resoundingly never abandon me Monu blackguard! 'Stories Online 

"Shake gigantic ass! " 

Grown-up Short 

Mascara pivoted around for quite a while were torn pussy ass. In the wake of staying around for some time notwithstanding when the release by putting a peg in the ground come back once more. 

Grown-up 

Why not come and get them today was that the joy of sex mascara. 

Eroctic 

When they were not on the sex of mas
Share:

मेरे सामने चार लड़को ने मेरी बीवी को चोदा

आज मैं आपको जो स्टोरी बताने जा रहा हु वो एक सच्ची घटना है कैसे मैंने अपनी बीवी को दूसरे लंड से चुदवाया मेरा नाम मानव  है !और मेरी बीवी का नाम करीना है !मैं आपको बताऊंगा की कैसे उसके आने के बाद मेरी ज़िन्दगी यानि सेक्स लाइफ बदल गई मेरी उम्र ३०/साल है मेरा एक बेटा है हम  दोनों अपनी सेक्स लाइफ हो या अपनी निजी ज़िन्दगी हम इसमें खुश थे हम छुट्टी यो मैं कही बाहर जाने का प्लान बनाया क्योंकि हमे बहुत दिन होगये अपने घर से कही दूर  जाकर इसे बिच मेरी बीवी ने कहा क्यों ना हम शिमला जाए तो मुझे भी उसका आईडिया ठीक लगा !

फिर हमने अपने बेटे को उसकी नानी के पास छोड़ दिया और हम शिमला के लिए निकल गए हम वहा पहुँचने के बाद एक होटल बुक किया और घूमने के लिए निकल गए हम घूमते घूमते बहुत दूर आगये थे  वो इलाका पहाड़ी था लमुझे तोडा डर था की कोई हमे अकेले देखकर इस बात का फायदा ना उठाये और मेरी बीवी खूबसूरत थी मुझे डर इस बात का था की वह कोई हमे पकड़कर उसकी चुदाई ना कर दे जगह वो ऐसी थी की वहा दूर दूर तक कुछ नज़र नहीं आरहा था लेकिन मेरी बीवी के दिमाग मैं  कुछ और ही चल रहा था उसने कहा क्यों ना हम आज यही खुले मैं ही चुदाई करेंगे  बहुत मज़ा आएगा मैंने उसे मना कर दिया लेकिन वो नहीं मानी फिर मैंने वही डरते डरते खुले मैं हमने चुदाई की फिर हम  वह से लौटकर आने के बाद हमने कई नए सेक्स शॉट आजमाए और कई बार तो हमने अपनी बालकनी मैं ही खुले मैं सेक्स करते एक बार हमारी बाजूवाली ये सब करते हमे देखलिए तो कहा क्यों रश्मि बाहर क्यों कर रही हो सेक्स तुम्हे शर्म नहीं आती तो  हमने उनसे कहा नहीं हमे इसमें बहुत मज़ा आता है आप भी आओ मज़ा लो तो वो वहा से भाग गयी !Desi Hindi

एक बार रात को मैं काजल की मस्त चुदाई कर रहा था। उस रात मैंने एक दो पैग लगा लिए थे इस लिए मुझे कुछ सरूर ज्यादा था, काजल को भी मैंने एक पैग दिया था इस लिए वो भी आज कुछ ज्यादा ही मज़े दे रही थी। वैसे काजल पीती नहीं है पर मेरे साथ कभी कभी चल जाता है।Bhabhi

काजल को चोदते चोदते मैं उस से गन्दी गन्दी बातें भी कर रहा था। वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। मैंने आज एक ब्लू फ़िल्म लगा रखी थी, उसको देखते देखते ही मैं काजल को चोद रहा था।

जैसे जैसे फ़िल्म में हो रहा था वैसे ही काजल और मैं कर रहे थे। काजल कभी मेरा लंड चूसती तो कभी मैं उसकी चूत चाटता कभी मैं काजल को घोड़ी बना कर चोदता तो कभी उसकी गांड को फाड़ता। आज पूरे मज़े ले लेकर हम चुदाई कर रहे थे।Desi Bhabhi

तभी फ़िल्म में एक सीन आया उसमे एक आदमी एक लड़की को लंड चूसा रहा था और लड़की कुतिया की तरह खड़ी हो कर चूस रही थी। तभी एक दूसरा आदमी आया और उसी कुतिया के पोज़ में उसे चोदने लगा।

ये देख कर काजल भी मेरा लंड चूसने लगी और अपनी चूत में उंगली करने लगी। बहुत देर तक करते रहने के बाद उसका हाथ थकने लगा तो उसने उंगली हटा ली !  Desi Stories

मैंने कहा क्या हुआ जान तुम्हे ऊँगली करने मैं तकलीफ हो रही है क्या तो उसने कहा हां मुझे एक और लंड चाहिए मैंने उसदिन पी रखी थी  मैंने कहा है क्यों नहीं एक क्या मैं तुम्हारे लिए जितने बोलो उतने लंड लाकर दूंगा  सेक्स करते हुए ऐसी बातें करते है इसलिए मैंने दुबारा उससे पूछा,’ तू ही बता दे ना तुझे किसका लंड चाहिए? जिसका तुझे पसंद होगा उसका ही दिला दूंगा तुझे !’
काजल झट से बोल पड़ी,’ हाँ हाँ विशाल का लंड चाहिए मुझे उसका बहुत ही मोटा और तगड़ा है।’
‘क्यों नहीं कल ही ले, तुझे विशाल के लंड से चुदवाता हूँ, वो ही कल तेरी चूत की चटनी बनाएगा।’
‘पक्का ना?’

‘पक्का ! पर एक शर्त है मेरे सामने चुदना होगा मैं यहाँ चुपचाप देखूंगा।’Savita
‘पर अगर तुम देखोगे तो मुझे दूसरा लंड कहा से मिलेगा?’
‘तो क्या हुआ एक और मर्द बता दे जिससे चुदने की इच्छा है। ‘
‘हाँ हाँ आकाश का भी लंड बहुत मोटा होगा।’

हम दोनों ऐसे ही बात करते जा रहे थे, तभी मैं झड़ गया तो मैंने अपना लंड हटा लिया और साफ़ करके सो गया।

सुबह सब कुछ सामान्य था। मैं नाश्ता करके ऑफिस चला गया। ऑफिस में दिन में अचानक काजल का फ़ोन आया,’ मानव कहाँ हो? अभी घर आ सकते हो?

मैंने पूछा- क्यो?
‘बहुत मन कर रहा है!’
‘शाम को आ कर चोदता हूँ ना’
‘नहीं अभी आओ वरना में विशाल आकाश को बुला रही हूँ ‘Savita Stories
‘बुला लो’

ऐसा कह कर मैंने फ़ोन रख दिया।
मैं सोचने लगा कि क्यों न इस बार ये भी करके देखा जाए, इस में बुरा ही क्या है, विशाल और आकाश मेरे दोस्त है और दोनों भी शादी शुदा है अगर दोनों उसे चोद भी देंगे तो घर की बात घर में रहेगी और वो दोनों भी अपनी बीवियों के डर से किसी को नहीं बताएँगे और मेरे और काजल के लिए ये नया यौनानुभव होगा।

ये सोच कर मैंने काजल को दोबारा फ़ोन किया और कहा कि आज शाम को आकाश और विशाल को घर पर दारू पार्टी के लिए बुलाओ।
मैं सोचने लगा कि क्यों न इस बार ये भी करके देखा जाए, इस में बुरा ही क्या है, विशाल और आकाश मेरे दोस्त है और दोनों भी शादी शुदा है अगर दोनों उसे चोद भी देंगे तो घर की बात घर में रहेगी और वो दोनों भी अपनी बीवियों के डर से किसी को नहीं बताएँगे और मेरे और काजल के लिए ये नया यौनानुभव होगा।

ये सोच कर मैंने काजल को दोबारा फ़ोन किया और कहा कि आज शाम को आकाश और विशाल को घर पर दारू पार्टी के लिए बुलाओ।

‘क्यों आज सही में इरादा है क्या मुझे दो दो से चुदवाने का ‘
‘हाँ सोच तो ऐसे ही रहा हूँ ‘

‘सोच लो अगर उनके लंड ने मेरी चूत की प्यास बुझा दी तो उनके लंड का स्वाद ही न लग जाए मुझे’
‘कोई बात नहीं मेरी जान चूत की प्यास बुझाना कोई ग़लत नहीं है अगर पति न सही तो पति के दोस्त ही सही।’
तब थोड़ी देर में ही सही पर काजल मान गई उन दोनों से एक साथ चुदने को। पर मैंने उसको एक शर्त भी बता दी कि उन दोनों को पता नहीं चलना चाहिए कि मैं भी तुम्हें चुदाई करवाते देख रहा हूँ और काजल का ही काम है उन दोनों तो तैयार करना चोदने के लिए। काजल इस के लिए तैयार हो गई।

सब कुछ योजना के अनुसार हुआ। काजल ने उन दोनों को खाने के बहाने घर पर बुलाया और मैं पहले ही आकर अपनी जगह पर छुप गया। ठीक शाम के 7 बजे दोनों घर पर आ चुके थे। दोनों अपने साथ एक व्हिस्की की बोतल भी लाये थे।
दोनों वहीं सोफे पर बैठ कर फ़िल्म देखने लगे। मेरा इंतज़ार करते करते आधा घंटा हो गया तो आकाश से नहीं रहा गया तो उसने मुझे फ़ोन मिला दिया। पर मैं अपना फ़ोन पहले ही बंद कर चुका था। आकाश ने काजल से पूछा कि आज मानव का फ़ोन नहीं मिल रहा है क्या बात है?काजल ने कहा ‘अरे हाँ मैं तुम्हें बताना भूल गई थी कि मानव का फ़ोन आया था और वो कह रहा था आज वो लेट आएगा’

‘यार ये मानव भी न बहुत ही अजीब है हमेशा ऐसे करता है अब बताओ हमारी दारू पार्टी का क्या होगा हम तो पूरी बोतल ले आए हैं.’
विशाल बोला- कोई बात नहीं मैं मोनू और गुप्ता को भी बुला लेता हूँ हम चारो मिल कर इसे ख़तम कर देंगे’
काजल ने ये सुना नहीं कि वो मोनू और गुप्ता को भी बुला रहे है वो भी मेरे ही दोस्त हैं।

काजल ने भी अपनी पूरी तैयारी कर ली थी। वो आज अपने पूरे बदन की वैक्सिंग करा कर आई थी। चूत पर से सारे बाल साफ़ करवा कर बिल्कुल उसे चिकनी कर के बिल्कुल दो दो लण्डों से चुदने को बेताब थी !

काजल ने अपनी सबसे सेक्सी ब्रा पैंटी का सेट पहना और उसके ऊपर एक घुटनों तक स्कर्ट और उसके ऊपर एक नीचे गले का टॉप। कसम से इतनी सेक्सी वो तब बन कर नहीं आती जब मैं उसे चोदता हूँ पर कोई बात नहीं आज उसे दो दो लंड चोदने वाले थे !

तब तक विशाल और आकाश ने दारू पीनी शुरू कर दी थी। काजल भी उनके बगल वाले सोफे पर जा कर बैठ गई। टॉप में उसके चुचे बाहर आने को मचल रहे थे। घुटने तक की स्कर्ट में उसकी गोल गोल जांघे दिखने का आभास दे रही थी।Savitha Comic
मैं देख रहा था कि विशाल उसे चुपचाप देखे जा रहा था वो उसकी जांघो को ही देखे जा रहा था। सच में वो सोच रहा होगा काश इन दो जांघों के बीच की जगह पर वो लेटा होता ! आकाश भी कम नहीं था वो भी काजल के बदन को देखे जा रहा था जैसे कह रहा हो काश आज काजल की गोल गोल मोटी गांड के पीछे से झटके मारता रहूँ।Sabhita Bhavi

दोनों ने दो दो पैग लिए और तीसरा बनाने लगे। तभी काजल कहने लगी- मैं तुम दोनों के लिए और कुछ खाने को लाती हूँ। काजल किचन से कुछ लेकर आई तो जब मेज़ पर झुक कर रखने लगी तभी उसके मोटे मोटे चुचे उसके टॉप से बाहर आने को मचलने लगे। विशाल और आकाश आँखें फाड़ कर उसके चूचों को खा जाने वाली नजरों से देखने लगे।काजल फिर वही बैठ गई और अपनी टांगें सोफे पर ऊपर कर के बैठ गई। ऐसा करते हुए उसकी थोडी सी जांघो के दर्शन उन दोनों को हो गए। अब तो उन दोनों को वहा बैठना बहुत ही भारी लगने लगा ! मैं समझ गया कि काजल का दांव बिल्कुल ठीक बैठा है। अब वो दोनों भी समझ गए थे कि काजल क्या चाहती है !indian bhabhi sex stories
विशाल उठा और काजल के पास जा कर बैठ गया और ऐसे ही बोला- और बताओ काजल आज कल क्या चल रहा है ! और ऐसा कहते कहते काजल की जांघो पर हाथ रख दिया और धीरे धीरे उसकी जांघो को मसलने लगा। दोनों ऐसे ही बात करते रहे तो आकाश से नहीं रहा गया और वो भी उठ कर काजल के बगल में आ गया और उसकी दूसरी जांघ पर हाथ रख दिया।Bhabhi Video
अब तक सब कुछ साफ़ हो चुका था कि सब क्या चाहते हैं इसलिए काजल ने भी देरी न करते हुए अपना हाथ बढ़ाते हुए विशाल की जिप पर अपना हाथ रखा और उसे खोलने लगी और अपने दूसरे हाथ से आकाश के लंड को दबाने लगी। तब तक विशाल का लंड बाहर आ चुका था। सच में काफी बड़ा लंड था उसका। पता नहीं उसकी बीवी उसे कैसे झेलती होगी। तब तक काजल दोनों के लंड अपने हाथ में ले चुकी थी।
मैं बाहर से उन तीनों का यह जवानी का खेल देख रहा था। मेरी बीवी मेरे सामने ही मेरे दोस्तों से चुद रही थी इससे बड़ी ब्लू फ़िल्म मेरे लिए और क्या होगी।

काजल उन दोनों कालंड बारी बारी से चूस रही थी कभी विशाल का लंड मुँह में लेती तो कभी आकाश का। विशाल काजल का टॉप उतार चुका था काले रंग की ब्रा में काजल के मोटे मोटे चूचे क़यामत ढा रहे थे।

आकाश भी काजल की स्कर्ट ऊपर उठा कर नीचे पैंटी के दर्शन कर रहा था। तभी काजल ने उसे कहा,’ ये क्या कर रहे हो? यहाँ पर मैं तुम्हें फुल टॉस दे रही हूँ और तुम सिर्फ़ उसे क्लिक कर रहे हो ! आजा आकाश आज अपनी भाभी की जवानी का मज़ा जी भर कर ले ले उतार दे ये’
आकाश भी गरम हो चुका था पहले आकाश ने अपने कपड़े उतारे और बिल्कुल नंगा हो कर काजल के सामने पहुँच गया।

‘अरे वाह तेरा तो बहुत ही मोटा और लंबा लग रहा है? आज तू भाभी की चूत को बुरी तरह फाड़ने आया है क्या?
विशाल भी तब तक नंगा हो चुका था उन दोनों ने फिर मिलकर काजल की स्कर्ट उतारी और विशाल ने काजल की ब्रा उतारी आकाश ने पैंटी नीचे खींच दी !Saxy Storys

अब तीनों बिल्कुल नंगे हो कर एक दूसरे को लगातार किस किए जा रहे थे काजल एक हाथ से कभी विशाल का लंड पकड़ती और कभी दूसरे हाथ से आकाश का लंड मुँह में लेती।

मुझे ये सब देख इतना मज़ा आया कि मैं वहीं मुठ मारने लगा।porn Stories

अन्दर तब तक काजल दोनों को बेड तक लेकर आ चुकी थी। वहाँ पर काजल कुतिया की तरह पोज़ बना कर विशाल का लंड अपनी चूत में ले चुकी थी आकाश उसे अपना लंड चुसाये जा रहा था।

तभी बाहर बेल बजी काजल घबराहट में उठी और बोली- अब कौन आ गया मज़े ख़राब करने?

आकाश ने कहा- शायद मानव आया होगा !
नहीं वो अभी नहीं आएगा !
तो फिर कौन आया होगा !
‘मोनू और गुप्ता होगे मैंने उन्हें फ़ोन कर बुलाया था’

‘ये क्या कर दिया अब ले लो मज़े मेरी जवानी के !’ काजल बोली- अभी तो फ़िल्म भी शुरू नहीं हुई है और तुमने इंटरवल कर दिया!’

‘तो क्या हुआ मेरी रानी जहाँ हम दो दोस्त हैं वहाँ वो दो और सही आज पूरे मज़े ले ही लो तो अच्छा है’ विशाल बोला।

काजल ने भी सोचा हाँ क्यों न ये भी सही जहाँ दो पराये मर्दों से चुद रही हूँ वहा दो और आ जाएँगे तो क्या ग़लत है ! चलो फिर बुला लो उस दोनों को भी !आकाश बाहर जा कर उन दोनों को अन्दर ले आया। अंदर आते ही वो सब कुछ समझ गए जब उन्होंने विशाल और काजल को नंगा देखा।

‘आ जाओ मेरे राजाओ नंगे हो कर तुम भी शामिल हो जाओ मेरी चूत और गांड की सवारी में ‘

‘साली कब से चाहता था तेरी नंगी चूत को चोदना ! आज तो जी भर कर चोदूंगा रात भर चोदूंगा ‘ मोनू अंदर आते ही नंगा होकर बोला।
गुप्ता भी जोश में नंगा होकर बिस्तर पर आ गया अब मेरी बीवी बिल्कुल नंगी होकर चार नंगे मोटे मोटे लंड वाले मर्दों के बीच में चुदाई की कबड्डी खेलने को बिल्कुल तैयार लेटी थी। सबसे पहले मोनू ने अपना लंड उसकी प्यासी चूत में आधा अंदर घुसा दिया।

आहा मर गई मोनू कुत्ते ह्ह्ह्ह्ह् क्या मोटा लंड है तेरा कुत्ते ‘Exotic Stories
‘आज गुप्ता तू भी अपना लंड पकड़वा ! सबका चख लिया तेरा कैसा है तू भी चखा ना ‘

काजल गुप्ता का लंड चूसने लगी।

‘नहीं ऐसे मज़ा नहीं आएगा मुझे सब लंड एक साथ चाहिए अलग अलग नहीं !’ काजल पुरे जोश से बोली।

कुतिया बन रही हूँ, जिसको जहाँ जो छेद मिले वहीं अपना लंड घुसा दो जल्दी’

काजल कुतिया की तरह पोज़ लेकर उन चारों के बीच में आ गई।

मोनू उसके नीचे आ गया और काजल को अपने ऊपर ले लिया और उसकी चूत में अपना लंड घुसा दिया।
विशाल उसकी गांड के पीछे आ गया और अपना लंड उसकी गांड में धीरे से रख कर अन्दर धकेल दिया।

मैं आज बहुत खुश था की मेरी बीवी को आज चार एक साथ मिलकर चोद रहे है और मेरी बीवी भी उन चारो को संभाल रही थी सब को मौका देना चाहती थी ये सब देखकर मेरे तो लंड ने पानी निकाल दिया मुझे ख़ुशी इस बात की थी की मेरी बीवी एक साथ चार लंड भी ले सकती है !गुप्ता ने भी अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया।
अब आकाश बचा था, आकाश का लंड काजल ने अपने हाथ में ले लिया और कहा,’ कोई बात नहीं आकाश आज तेरी मुठ मैं ही मारूंगी, इन तीनों में से जो भी पहले झड़ेगा उसके बाद तू आ जाना !
चारो अब शुरू हो गए,’ अआः अह्ह्ह्छा मर गई सालो ! कमीनो ! मार डाला आज तुमने काजल को !’

‘उईईइ उईईई अहा आ या क्या बात है चार चार लण्डों के बीच में अकेली चूत अह्ह्ह

‘फाड़ दे मोनू आज चूत को जी भर के फाड़ गुप्ता गांड को आज बिल्कुल मत छोड़ना गांड का कुआं बना दे आज !’

‘आ जाओ ! आ जाओ ! विशाल आकाश ! तुम्हारी लंड की खुजली को ख़तम करूँ बारी बारी से चूस कर !’
‘अहाआया मज़ा आ गया !’
‘और जोर से छोड़ मुझे मोनू हरामजादे कभी चूत नहीं मारी क्या !’
‘विशाल गांड फाड़ दे !’
बड़ी देर तक चारों बदल बदल कर काजल की चूत गांड को फाड़े जा रहे थे। चारों जब झड़ गए तब भी थोड़ी देर रुकने के बाद एक एक पैग लगा कर फिर से मैदान में आ जाते।Errotic Literature

और क्यों न आते आज उन्हें काजल की चुदाई का सुख जो मिल रहा था।Adult

फिर न जाने कब तक वो चुदाई करते रहे पर काजल का जी नहीं भरा पर जाना भी था। अगली बार सब वादा कर गए कि वो अगली बार 6 दोस्त एक साथ उसे चोदेंगे।

मैं भी सोच रहा था कि 6-6 के लंड काजल कैसे लेगी पर काजल तैयार थी अगली चुदाई के लिए !
इस तरह से मैंने अपनी पत्नी को अपने सामने दूसरे से चुदवा लिया लेकिन मैं खुश था क्योंकि मेरी बीवी की प्यास और उसकी हिम्मत जो थी चार लंड ले कर खुश थी मैंने कभी सोचा भी नहीं था की वो ६ लंड भी ले सकती है !जो उसने वादा किया है !Read Adult



Share:

Wednesday, 14 September 2016

बरसात की रात अनजान भाभी के साथ

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम शिवम् है मुझे लड़कियों से ज्यादा आंटी मैं बहुत इंटरेस्ट है इसलिए मैं कॉल बॉय बना हु जिससे मुझे ज्यादा से ज्यादा आंटी को चोदने का मौका मिले ऐसी ही कुछ स्टोरी है जो मेरे साथ हु एक सच्ची घटना है !जो मैं आपको बताना चाहता हु !desi indian bhabhi stories

उम्मीद करता हु ये आपको भी पसंद आएगी मैं आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधे स्टोरी पर आता  हु मेरी उम्र २५ साल है मैं दिखने मैं भी ठीक ठाक हु अगर मेरे लंड की बात करे तो करीब ६ इंच का है जो किसी भी नार्मल इंसान का होता है !मुझे Bhabhi Stories
Desi Hindi  दिल्ली मैं आकर अभी कुछ ही दिन हो गए थे रात का वक़्त था मैं अपने दोस्तों के साथ पार्टी करके लोट रहा था तभी मैंने देखा एक खूबसूरत ३०'/३२ साल की आंटी शायद ऑटो का इन्तेजार कर रही थी मैं थोड़ा सा हैरान हो गया की इतनी रात को अकेली है ! मैं इस बात का फायदा उठाने के लिए उसके करीब गया और हेल्लो कहा वो थोड़ा डर गयी और कहा तुम्हे क्या चाहिए मैंने उनसे कहा कुछ नहीं आप गलत समझ रही !हैंBhabhi
Desi Bhabhi
मैंने कहा आप परेशान मर हो आपको कहा जाना है !मैं आपके साथ आऊंगा मेरे लाख कहने के बाद उसे यकीं हो गया की मैं गलत नहीं हु फिर हम दोनों वही ऑटो का वेट करते रहे तभी सामने से एक कार आगयी जिसकी रौशनी उस आंटी के ऊपर पड़ी क्या चीज थी मानो अभी जवानी चढ़ी हो उसका नशीला बदन मैं ये सब देखकर तो अब सोच रहा था की इसे मैं कैसे चोदू उसकी जवानी देख मेरे तो लंड मैं जान आगयी हो और वो तो जैसे उस आंटी को चोद के ही रहेगा!Desi Stories
indian bhabhi stories
 क्या बताऊ यारो… पूरी की पूरी सेक्स माल लग रही थी. मैंने उनको घूरे ही जा रहा था. वो भी मुझे देख रही थी. शायद उनको मेरी आँखों में जो उनके लिए हवस आई थी वो दिखाई दे गयी थी. वो थोड़ा सिमट कर डर कर खड़ी हो गयी थी.Savita
बड़े – बड़े सेक्सी मिल्की बूब्स.. पुरे ३८ के गोरे – गोर्रे… मोटी ल
 मैंने हाथ दे कर ऑटो को रोका. उसमें बैठ गया और मुझे क्या सुझा, कि मैंने उसको शेयरिंग में बैठने को कहा. उन्होंने मना कर दिया. फिर मैंने फ़ोर्स किया और उनको कहा – इतनी रात में ज्यादा खड़ा होना अच्छा नहीं है. मैंने उनको थोड़ा सा भरोसा जताया, कि मैं कोई गलत बंदा नहीं हु और रात के समय पर वो वहां अकेले रह जाती और वो बिलकुल भी सेफ नहीं था.Savita Stories
Errotic Literature  तो उनको मेरी बात समझ में आ गयी थी और वो मान गयी. फिर हम ऑटो में बैठे. उन्हें साकेत जाना था, मैंने भी झूठ बोल दिया, कि मुझे भी वही जाना है. वो ऑटो में मुझसे चिपक कर बैठी थी. बातों ही बातो में उन्होंने बताया, कि उनके हस्बैंड लन्दन में जॉब करते है और उनकी एक छोटी बेटी है और उनका खुद का फ्लैट है साकेत में. मैं बात करते – करते उनको इधर – उधर टच करता रहा. वो स्माइल दे रही थी. उन्होंने मुझसे पूछा, कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड है? मैंने कहा – नहीं, आप जेसा कोई मिल जाता, तो सोचता. उन्होंने कहा – मुझे में ऐसा क्या देखा तुमने? मैंने कहा – नहीं. कुछ नहीं. मैं बोल नहीं सकता. अगर बोलूँगा, तो आप बुरा मान जाओगी. उन्होंने मुझे फ़ोर्स किया और फिर से पूछा? मैंने कहा – आपके बूब्स और हिप्स कमाल के है.Comic Savita
वो थोड़ा चौकी और फिर मुझसे पूछा और क्या है मेरे अन्दर? मैंने कहा – सब कुछ देखूंगा, तो बताऊंगा. उन्होंने कुछ सोचा और फिर मुझसे कहा – मेरे घर चलो. कॉफ़ी पीते है. मैंने हाँ कर दिया. फिर मैं उनके घर गया. घर काफी अच्छा था. उन्होंने मुझे बैठने को कहा और वो कॉफ़ी बनाने लगी. उन्होंने मुझे एक अपने हस्बैंड का लोअर दिया और टॉवल दिया और बोला – चेंज कर लो. बाथरूम अटैच्ड था वहीँ पर.
Read Adult
 मैंने अन्दर गया और वहीं पर चेंज करने लगा. तभी देखा, उनकी पेंटी और ब्रा वहीं रखी थी. मैंने उसमे अपना मुठ मारा और बाहर आ गया. फिर वो चेंज करने गयी और जब बाहर आई, तो मैं देखता ही रह गया.. क्या मस्त लग रही थी वो… स्लीवलेस नाइटी में थी. उसमे उन्होंने जो ब्रा पेंटी पहनी थी, वो दिख रहे थे. उनको देख कर मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया. मेरे लंड ने लोअर में तम्बू बना दिया.. और उन्होंने वो उभार नोटिस कर लिया. उन्होंने मुझे एक स्माइल पास कर दी और फिर हमने साथ – साथ में कॉफ़ी पी और फिर अचानक उन्होंने मुझसे कहा, कि मैं उनको किस करू?


तो मैंने उनको किस करना शुरू कर दिया. क्या मखमल की तरह रसीले होठ थे उनके. उन्होंने कहा – आज रात मैं उनको जी भर कर प्यार करू. जो प्यार उनको उनके पति कभी नहीं दे पाए. फिर वो पागलो की तरह से मेरे होठो को चूसने लगी. वो मेरे होठो को काट रही थी. फिर मेरे लोअर को उन्होंने उतार दिया और मेरा लौड़ा देख कर बोली – काफी बड़ा है. मजा आएगा. वो मुह में लेकर लौड़ा ऐसे चूस रही थी, जैसे की कोई बच्चा आइसक्रीम चूसता है. फिर मैंने उनको नंगा किया और उनके गोरे – गोरे बड़े बूब्स पीने लगा. उसमे से अभी भी दूध निकल रहा था. मैंने पूछा तो उन्होंने बोला, कि उनकी बेटी अभी १.५ इयर की है. मैंने उनका सारा दूध पिया और वो बड़ी अजीब सी आवाज निकाल रही थी, जैसे कई दिनों से लंड की भूखी हो. फिर मैंने उसकी चूत पर निगाह डाली, तो उनकी पिंक कलर की शेव पुसी पानी छोड़ रही थी. मैंने उसको चाटना शुरू कर दिया और फिर मैंने उनकी टांगो के बीच में तकिया लगाया और अपने लंड को उनकी चूत पर रखा और रगड़ने लगा. वो मुझे अन्दर डालने को कहने लगी. मैंने एक जोर का झटका मारा और वो चिल्लाने लगी. उनको सेक्स किये हुए काफी दिन हो गये थे. उनकी चूत बहुत टाइट थी और मेरा लंड अन्दर बड़ी ही मुश्किल से जा रहा था. मेरे लंड में दर्द होने लगा था और मैंने अपने लंड को अन्दर डालने के लिए पूरा का पूरा जोर लगा दिया था.Sabhita Bhavi
मैंने उनके मुह को बंद कर दिया. वो रो रही थी. मैंने अपनी जीभ से उनके आंसू को पी लिया और बिलकुल उनके हस्बैंड की तरह उनको गले से लगा लिया. मैंने फिर से एक पूरा झटका मारा और मेरा पूरा का पूरा लंड उनके अन्दर चले गया. वो कसमसाने लगी. मैंने उनके बूब्स को कसकर चूसा और दबाया और झटके मारने लगा. वो मोअन करने लगी थी. उन्होंने मेरी पीठ पर अपने नाखुनो के निशान बना दिए. मैंने २० मिनट उनको ऐसा चोदा, वो गांड उठा – उठा कर चुदवा रही थी. फिर उन्होंने मुझसे हटने को कहा और मुझे नीचे कर दिया. वो मेरे ऊपर आ गयी और लंड को अन्दर डाल कर खूब मजे से मेरे लंड पर उछल रही थी. फिर मुझे लगा, कि मेरा पानी आने वाला है. तो उन्होंने मेरे लंड निकलवा दिया और अपने मुह में ले लिया. वो मेरा सारा का सारा माल पी गयी. वो मेरे ऊपर लेट कर मुझे किस कर रही थी. मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. फिर उन्होंने मुझको बोला, कि वो मुझ को एक गिफ्ट देंगी. फिर वो आयल लेकर आई और मेरे लंड पर लगाया. फिर वो अपनी गांड डोग्गी स्टाइल में आ गयी और बोली – मेरी गांड मारो आज. आज तक मैंने अपनी गांड को किसी को हाथ नहीं लगाने दिया. मैंने मन में सोचा, मेरी तो निकल पड़ी.. मैंने धीरे से अपना लंड उसकी गांड में डाल दिया. मैंने पहले अपने लंड को अच्छे से उनकी गांड के लाल छेद पर रगडा और मेरा लंड अब हल्का – हल्का पानी छोड़ने लगा था और मैंने उस पानी को उनकी गांड पर घिसना शुरू कर दिया था. उसके मुह से हलकी – हलकी सिसकिया निकलने लगी थी और उनकी साँसे बहुत तेज होने लगी थी. अहहहह्हा अहहहः अहहः अहहहः अहहः. मैं उनकी सासों की आवाजो को सुन सकता था. मेरी साँसे और मेरे दिल की धड़कने भी बहुत तेज भाग रही थी.Adult Short
मेरे लंड डालने पर उनको दर्द हुआ. मैंने पूछा – रोक लू क्या? पर उन्होंने मुझे मेरा लंड उनकी गांड के अन्दर ही डालने को बोला. मैंने अपना पूरा लंड उनकी गांड के अन्दर कर दिया. फिर मैं उनको धीरे – धीरे चोदने लगा. उनकी गांड बहुत टाइट थी. वो अपनी गांड को हिलाने लगी थी हाहाह अहहाह ऊऊफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़् अहहाह अहहाह अहहः हहहः गक फक फक फक फक और जोर से .. हार्डर… और जोर से चोदो मुझे… फाड़ डालो मेरी गांड को… फाड़ दो इसे आज… फिर मैंने १५ मिनट तक उनकी गांड की चुदाई की और फिर मैं उनकी गांड में झड गया. हम दोनों एक दुसरे से चिपक कर सो गये. जब मैं सुबह सो कर उठा, तो उन्होंने मुझे किस किया और अपना नंबर और पैसे दिए. मैंने मना किया, तो उन्होंने मुझसे कहा, कि मैंने उनको को ख़ुशी दी है, उसके मुकाबले ये कुछ भी नहीं है. मैंने पैसे ले लिए और कपड़े पहने. उनकी आँखों में आंसू आ गये.
Stories Online
मैंने उसको पूछा – क्यों रो रही हो? उन्होंने बोला – कि मैंने उसको उनके हस्बैंड से भी ज्यादा प्यार किया है इसलिए. मैंने कहा – आप जब भी चाहो.. मुझे बुला लेना. आज भी मैं उनके साथ सेक्स करता हु. उनकी फ्रेंड के साथ भी किया है मैंने. उनकी फ्रेंड्स को भी मैंने चोदा है. वो मैं कभी आपको अपनी दूसरी स्टोरीज में बताऊंगा. उन भाभी और उनकी फ्रेंडस ने मुझे मिलकर जिगोलो बना दिया. मैं जिगलो जरुर बना, लेकिन उन लोगो का भरोसा कभी नहीं तोडा. उनके और मेरे सीक्रेट रिलेशनशिप आज भी सीक्रेट है. क्योंकि इस तरह के रिलेशनशिप में सिकेरेसी होने बहुत जरुरी है और ट्रस्ट होने बहुत जरुरी है. इस तरह से मैं भाभी की प्यास बुझाई इस वजह से उन्होंने मुझे कोई गर्लफ्रेंड भी रखने से मना किया क्योंकि वो नहीं चाहती थी की उनका आशिक़ किसी और के साथ मज़े करे इस लिए मैंने भी कभी उन्हें धोका नहीं दिया !Hindisex Stories
Share:

I made the rounds of her pussy slave

Hi companions, my name is Shivam auntie I intrigue me more than the young ladies, so I'm deciding that kid gets an opportunity to fuck me more close relative who I am with something comparable story is a genuine story! I let you know I need! desi indian bhabhi stories

I'm trusting they can be welcomed by not exhaust you more story comes straightforwardly to my 25 years old, I am fine, I am hoping to chat with around 6 inches of my cockerel any ordinary individual is happens! I Bhabhi Stories
Desi Bhabhi

Delhi came only a couple days I had was evening time when I hosted came back to the get-together with her companions I saw an excellent 30 '/32-year-old close relative was most likely auto Intejar I was somewhat stunned alone so late during the evening! I drew near to him to exploit that and made proper acquaintance and let you know she was somewhat perplexed that you are misconception what I let them know nothingAre! Desi Stories
indian bhabhi stories I instructed you to say that you're disturbed, bite the dust! I will accompany you to make sure of my million subsequent to stating it again that I am not wrong on the off chance that we were both before the heaviness of an auto Agyi the light over the close relative what had appeared to be done with his inebriating body wears seeing this so now I was deduction in the event that it's the means by which I see my rooster her childhood Chodu Agyi and I know she will stay as the auntie of fucking! 
Savita
What if I tell ... the entire sex was looking material. I was just being gazed at him. He was taking a gander at me. Perhaps he had desire in my eyes to them it was noticeable. She was standing somewhat lessened apprehension. Savita Stories

Enormous - huge boobs hot smooth white .. no 38 - Gorre ... thick steel Comic Savita
Stories Hindi I halted auto hand. Sat down and I do suggest it, I requesting that he sit in sharing. they won't. Power, and afterward I let them know - don't stand such a great amount during the evening. I believed him a tiny bit, that I am not an awful fella and at evening time they are allowed to sit unbothered and that there was no bar by any means. Savita Bhabhi Episode

In the event that they had comprehended my point and that additional worth. At that point we sat in the auto. Saket was to them, I was lying, that I must be the same. He stuck me was sitting in the auto. He said things in the same things, Husband of their occupations is in London and he had a little girl and her own level in Saket. I talk - they do here - there kept on touching. She was giving grin. He asked me, I have a sweetheart that? I said - no, no, you got Like so considers. He said - what do I see? I said no. nothing. I can not talk. In the event that you talk, you will feel terrible. He then requesting that I constrain? I said - you have astonishing boobs and hips. Savitha Comic
Sabhita Bhavi He then asked me what little station in me? I said - everything will look, then tell. He thought and after that asked me - I return home. Espresso drink. I need to concur. At that point I went to their home. The house was entirely great. He instructed me to take a seat and she began making espresso. He gave me a towel and told my Husband and the Lower - get change. The restroom was joined nearby. I went in and there appeared to change. At that point saw there had their Panty and Bra. I hit it, and turned out my Mut. At that point he needed to change and turn out, so I came down to see what looked cool .. he was ... sleeveless Nete. Bra Panty in that he wore, he looked. My chicken quickly stood watching them. Lower in the tent and they made my rooster .. he paid heed swell. He gave me a grin and after that we got together - have espresso together and afterward all of a sudden he let me know that what I do I isn't that right? 
indian bhabhi sex stories
So I do what they began. What were they like velvet succulent lips. He - today evening time I cherish them I do fill-in-law. He couldn't love her significant other. At that point my lips began sucking on it like hatters. He was removed my lips. At that point he put me and my Aloda see lower offer - is enormous. Will be entertaining. He took in the mouth that was sucking Aloda, for example, a tyke sucks frozen yogurt. At that point I stripped them and their white - white enormous boobs was drinking. From despite everything it was out of milk. I asked, he said that his girl is presently 1.5 year. I drank all his milk and he was expelled weird voice, the same number of days to be ravenous roosters. At that point I took a gander at her pussy, pussy shaving their pink shade of the water was clearing out. I began to lick him and after that I put a pad between their appendages and put it on his chicken and her pussy and started rubbing. He said to place me in. I had a hard hit and she began shouting. The day they were made to sex. Her pussy was tight and my chicken was going in hard. I felt torment in my rooster and put his chicken in the entire accentuation was put. Hindisex Stories

I shut his mouth. She was crying. I drank their tears with his tongue and just embraced him like their Husband. I then hit a full shock and my entire rooster in them was no more. He was Ksmsane. I sucked her boobs and squeezed firmly and started to stroke. He was included in Moan. He made a blemish on my back my Nakhuno. I do 20 minutes Choada them, he Gand lift - lift was Chudwa. At that point he turned me down and instructed me to venture down. He came up to me and put in a lot of rooster was cheerfully ricocheting on my cockerel. At that point I felt that my water is going to come. At that point he evacuated my chicken and his mouth assumed control. That was my entire 
Adult Short
Stories Online
products p. She set down on me what I was doing. My rooster stood up once more. He let me know then that he would give me a blessing. At that point he brought the oil and put on my chicken. At that point he came in and said my can Doggi styling - Hit my can today. Till today I was not putting my butt gave to anybody. I thought as a main priority, I then needed to get out .. I gradually put his rooster in her can. As I check out my cockerel rubbed on her poop chute and my rooster now the red light - light water, and I was leaving the water had started to rub on his can. Light from his mouth - and his breaths turned out Siskia light was quick. Ahhhhha Ahhhः Ahhः Ahhhः. I could hear his mom in Awajo. Some portion of my breaths and my heart was thumping quick. Hindisex Stories
Saxy Storys
porn Stories Putting them on my rooster was throbbing. I asked - what ceased Lu? He instructed me to put my cockerel inside his rear end. I put my entire rooster into his rear end. They then I gradually - gradually started to fuck. His rear end was tight. He was shaking his butt Hahah Ahhah Uufrfrfrfrfrfr Ahhah Ahhः Hhhः IT .. Increasingly hard ... what's more, fuck me harder ... ... to shake off my rear end for 15 minutes then I destroyed it his can today ... sex and after that drop out of his rear end I was. We are screwed over thanks to each other, both nodded off. When I woke up in the morning, and after that he kissed me his number and gave cash. I cannot, so they let me know, I have given them readily, it is nothing contrasted with his. I took the cash and dressed. Tears went to his eyes.I asked him - why are you crying? He said - I cherished him far beyond her Husband. I said - .. Call me at whatever point you need. Indeed, even today, I am sex with them. I additionally have with their companions. His companion is additionally my Choada. I ever let you know that in my different stories. Escort who together made me sister and his Friends. Beyond any doubt I made Jiglo, yet never broke the trust of those. Also, my mystery is the mystery of their relationship right up 'til the present time. Since such connections and trust is vital to be Sikeresi is fundamental.Adult Stories
Errotic Stories
Share:

Sunday, 11 September 2016

Incidentally, how wildly sex?

Today I am going to recount to you a story, he is the genuine story! I Ptakr Choada a wedded lady the amount of the story I will recount to you the straight story does not exhaust Who is this tale around a month prior! My name is Rajesh I am an inhabitant of Mumbai, my age is 22 years of age, my 8 inch chicken that can satisfy any lady! I had a decent companion who was hitched and I was sitting conversing with a companion sibling of the night when he let me know when I was engaging in sexual relations with my significant other! desi indian bhabhi stories
Bhabhi Stories

At that point I had a call from a lady who was my better half yet my significant other Utalia Wrong Number one, he inquired as to whether she let you know that she is a hitched young lady edge! He heard that and just hung up the telephone and engaging in sexual relations that night I didn't converse with me, he was not a sibling Usdin!Desi Hindi
Bhabhi
called the number, yet the telephone was not looking! I Ths then I was taken to unwind the man who wedded the young lady edge will be the way vexed I was simply imagining that!Desi Bhabhi
Desi Stories
The reasoning over my cockerel tight is it all of a sudden the restroom and after that I began considering that young lady, and I felt his rooster moving before long my chicken was shed! 
Savita
And afterward when I go to rest in the morning when I was perched by breakfast Vgere Hey, I recalled to call the young lady I immediately evacuated my versatile and afterward a man called from the edge I accepted that call who are you? Why did he call you?indian bhabhi stories

Wrong Number I rapidly hung up the telephone saying I was somewhat terrified on the grounds that on the off chance that I call again and inquire as to why you called point! That day has passed when I ate and going to bed when I got a call when I saw he had a Wrong Number! 
4/5 not answer the telephone like that time I opened my eye instantly was pissed! Comic Savita

Hi edge and what edge the telephone is so late during the evening! At that point I heard a lady's voice made proper acquaintance, who are you why should you let you know she had called me in the morning! Stories Hindi

I was raised by my better half I was the washroom, I heard him talking, I call you, I've done as such distraught spree

At that point I asked him when you wedded, then wedded and she said yes, she said that the thing that I'm hitched, you know, converse with you in the event that I let you know that that was my companion, just I am hitched that you talked. Yes, yet that time I didn't comprehend anything, so I needed to say it again and I kept on conversing with him further significance. Savita Bhabhi Episode

Furthermore, since that day, we were talking each day. He was extremely open with me. At that point I got some information about her sexual coexistence, he began rationalizing. At that point he let me know everything gradually, she said that her significant other is 15 years more seasoned than my dad and my mom had been hitched to him, seeing his cash. At that point I asked him what day your mate you engage in sexual relations just here and there a month She said that they are not keen on every one of these things. Savitha Comic

When I address my better half ordinarily to engage in sexual relations, then they have intercourse and tumble off soon. At that point they comprehended that sex work is parched and can turn out to be so in the event that it is to be sexy and sensual Rose was talking on her telephone. I knew it would descend to my line!
Sabhita Bhavi
At that point he let me know his complete address and time and at the location recorded was come to. 

When he was coming nearer to me, so I cleared out him and I see that the assessed size of the figure will be around 36-32-34. He was wearing pants and a dim red shading in the top and was going to see her. About 2728 years old and after that come to see me later on that he said to me, first begin your bicycle up. indian bhabhi sex stories

At that point I begin the bicycle and developed and that stayed with me was sitting at this point. I sit like this was transpiring now and I didn't comprehend anything. I stay here and work here, no one at home right now, so I will lead you to your home, then he said alright and after that we returned home and she came in, and now remains behind her rear end Was looking. Her butt was with the end goal that nobody from her rear end all over his cockerel and couldn't avoid standing.

Bhabhi Video
Her can was splendid. his hand touched my chicken rooster and now stood taking a gander at my cockerel and she said, is to take a gander at how much swagger. 

At that point said that your rooster is so damn cool, tall, stout and really hard, as well. My significant other is the 3.5 inch. He was Shlaa my cockerel. His one arm and one hand on my rooster hair on my cockerel, I was having a ton of fun. To such an extent that my cockerel was remaining at a separation from my stomach and afterward his mouth was open and took my chicken in her mouth.
Hindisex Stories
Her can was impressive. his hand touched my chicken and now stood looking cockerel and she said, is to look at how much swagger. 
Erotc Literature
By then said that your chicken is so damn cool, tall, strong and truly hard, also. My better half is the 3.5 inch. He was Shlaa my cockerel. His one arm and one hand on my chicken hair on my cockerel, I was having a huge amount of fun. To such a degree, to the point that my cockerel was staying at a partition from my stomach and a while later his mouth was open and took my chicken in her mouth.
Saxy Storys
I was simply going insane! How could drop by any pussy! I too noisy what he believed was his mom's vow, what you observe any old cockerel stands Hojaye

I have now finished my tongue inside her mouth and put her tongue started to play, he was sucking my tongue around his mouth and on his tongue was curving and he put his tongue in my mouth, we both What about the 8 to 9 minutes gone. Presently her top over her boobs and after that before long I was brushing the highest point of the hand grasp and put guide her areola was brushing them. was. 

lightweight, light nibbles, putting both her and her areola were luke warm was sucking the areola. Presently lift the glass and stop acquired some little bits of ice.porn Stories

Ice started to touch her boobs on the areola, then strolled Siskariyan from her mouth, her areola in ice, pivot and afterward her navel to her boobs and her navel, I put the sauce on top to finish sauce filled and afterward licking her navel complete cleaned and began sucking her navel. Presently it was expansive and he Siskariyan and was getting horny and afterward I lifted him up and took her into the room and took the container come, then I lick her navel after her pants were likewise dispatched.
Errotic Literature
Presently on her white body and dark Panty I was distraught at the exceptionally top of your pussy with one hand, the issue was being Panty. Chuki her pussy was wet with water so his Panty. Presently, turn on your tongue and full Jaँgo began licking his Jag. Undies in her lick her pussy was over. He broke longing, so I took her and her pussy looks Panty remains. Her pussy was totally tidy up her pussy and her significant other was crazy skin was light pink, which couldn't deal with such a sweet pussy.Adult Stories
Adult Short
Presently I saw her pussy marginally over that of the skin was drawn and rubbing her pussy. She began taking Siskiya and said kindly don't do that, so he was free drinks. When I declined to peel off all my garments after I gave expelling his rooster and rubbing her boobs fondled and afterward I grabbed a bit of ice was set on his navel. Presently his body was trembling and I bits of ice from the navel to the encouragement of his Jaँgo came and started to turn on her thighs andHer legs spread her pussy lips and teeth that his skin was squeezing and the water was leaving her pussy and I licked all the water used to clean the entire pussy was getting a charge out of it as well. at that point I was placed in her pussy licked a finger and finger fuck her pussy that was in and he was filling Siskariyan.
Errotic Stories
So I expanded the velocity by putting the finger in pussy, so he was getting put. Her voice was reverberating in the room. She was shouting that please given me now a chance to pass on in Tdpao that, please put your rooster in my pussy and my pussy Quench the thirst of creatures like I was going to fuck her own longing Bdti. I quickly got my entire cockerel drops into the profundities of her pussy.Adult

Left shouting from his mouth and began conversing with me, to get out, I knew I was going to have the impact of ice alongside cockerels. I was not going to stop in her Chode. Presently I put both her legs behind him was put cocks. Before long I gave him change his position and left them in her doggy style and her legs marginally spread both put his rooster in pussy from behind and lifted her hips noticeable all around, making him fuck her body was Balens . My chicken was presently his full root access. I was getting a charge out of the sex with him in the genuine companions you engage in sexual relations in this position, and will appreciate Apanavoge. At that point I developed my pace with my rate in the room that was the sound Fc and expelled his belt and started to look towards my 
Exotic Stories
Speed ​​up the pace and it was exceptionally fun and quick Ahhh fuck pussy torn separated and after that I was saying today in regards to 30 minutes constantly Choada him, amid which he was three times the fall. Be that as it may, then before long the misfortune was. So I let him know I'm going misfortune, he hauled out of her pussy and ass on my chicken with her mouth and began sucking on release was and he drank the semen of roosters and began licking my cockerel's mouth and he let me know that nobody could have intercourse like you.pussy.Stories Online

Today, as a result of you, the thirst of my pussy was going out today and am totally fulfilled. At that point he dressed and went out, tailed her home when her pussy thirst that he used to call me and we engaged in sexual relations in the system is dispatched.
Share:

चूत में बर्फ का गोला JUNE 17, 2016

आज जो मैं आपको स्टोरी बताने जा रहा हु  वो के सच्ची  कहानी है! जो मैंने एक शादी शुदा औरत को कैसे पटाकर चोदा ये स्टोरी मैं आपको बताऊंगा की ज्यादा बोर ना करते हुए सीधे स्टोरी पर आता हु ये स्टोरी करीब एक महीना पहले की है ! मेरा नाम राजेश है मैं मुम्बई का रहने वाला हु मेरी उम्र २२ साल है !मेरा लंड ८ इंच का है जो किसी भी औरत को खुश कर सकता है !मेरा एक बहुत अच्छा दोस्त था जिसकी शादी हो चुकी थी मैं और दोस्त बाते करते बैठे थे तभी उसने मुझे बताया की भाई रात मैं जब मैं अपनी बीवी के साथ सेक्स  कर रहा था ! 
desi indian bhabhi stories
तभी मुझे किसी औरत का फ़ोन आया जो मेरी बीवी ने उठालिया वो एक रॉंग नंबर था लेकिन मेरी बीवी ने उससे पूछा की आप कोण तो उसने बताया की वो एक शादी शुदा लड़की है ! बस उसने इतना ही सुना और फ़ोन काट दिया और उस रात मुझे भी सेक्स करने नहीं दिया भाई उसदिन से वो मुझे ठीक से बात भी नही करती !
Bhabhi Stories
भाई तू ही कुछ कर यार बहुत परेशान हु तभी मैंने उसका फ़ोन लिया और उससे उस रॉंग नंबर के बारे मैं पूछा उसने वो नंबर मुझे दे दिया मैंने कहा तू टेंशन मत ले मैं सब ठीक कर दूंगा फिर मैं उसे उसके घर छोड़ आया फिर मैंने उस नंबर पर कॉल किया लेकिन फ़ोन नहीं लग रहा था !मैं भी आराम करने के लिया जा रहा थस तभी मुझे याद आया की यार कोण होगी वो लड़की जो शादी शुदा है कैसी होगी मैं बस यही सोचकर परेशान था !
Desi Hindi
Bhabhi
ये सोच सोचकर मेरा लंड एक दम से टाइट होगया फिर मैं बाथरूम गया और उस लड़की के बारे मैं सोचने लगा और अपने लंड को हिलाने लगा थोड़ी देर बाद मेरा लंड  झड़ गया था !Desi Bhabhi
Desi Stories
फिर जाकर मैं आराम से सो गया फिर जब सुबह हुई मैंने नाश्ता वगेरे करके बैठा हुआ था तभी मुझे याद आया की अरे उस लड़की को कॉल करना है मैंने झट से अपना मोबाइल निकाल दिया और से कॉल किया तभी किसी मर्द ने वो कॉल उठाया मैंने कोण तो उसने कहा तुम कोण हो क्यों कॉल किया है !
indian bhabhi stories
मैंने झट से रॉंग नंबर कहके फ़ोन काट दिया मैं थोड़ा डर गया क्योंकि अगर मुझे फिर से कॉल किया और पूछेगा की तुम कोण हो क्यों कॉल किया था ! ऐसे ही पूरा दिन निकल गया जब मैं खाना खाकर सोने जा रहा था तभी मुझे फ़ोन आया मैंने देखा की वो तो रॉंग नंबर था !Savita

तो मैंने सोचा उसी आदमी ने कॉल किया है लेकिन मैंने उसे वापस कॉल नहीं किया फिर जब रात के १२ बजे उसी नंबर से मुझे कॉल आया मैं थोड़ी गहरी नींद मैं था इस वजह से मैंने कॉल पे ध्यान नहीं दिया वापस से कॉल आया फिर भी मैंने फ़ोन नहीं उठाया ऐसे ही ४/५ बार हुआ मेरी एकदम से आँख खुल गयी मैं गुस्से मैं था !
Savita Stories
हेल्लो कोण हैं और क्या चाहिए इतनी रात को कोण फ़ोन कर रहा है ! तभी मुझे किसी औरत की आवाज सुनाई दी हेल्लो कोण हो आप मैंने कहा आप कोण हो तो उसने बताया की आपने मुझे सवेरे कॉल किया था !


Comic Savita
जो मेरे पति ने उठाया था मैं बाथरूम मैं थी मैंने उन्हें बात करते सुना तो मैंने आपको कॉल किया मैं तो ख़ुशी के मारे पागल होगया !
Stories Hindi
फिर उसके बाद मैंने जब उससे पूछा कि क्या तुम शादीशुदा हो, तो उसने बोला कि हाँ में शादीशुदा हूँ और उसने बोला कि यह बात आपको कैसे पता चला कि में शादीशुदा हूँ, तभी मैंने बोला कि मेरे दोस्त ने जब आपसे बात कि थी, तभी आपने ही बोला था कि में शादीशुदा हूँ। जी हाँ, लेकिन उस समय मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था तो मैंने ये बोल दिया था और मैंने फिर बात को आगे बड़ाई और उससे बात करता ही गया।
फिर उस दिन के बाद फिर हम रोज़ बात करते गये। वो मुझसे काफ़ी खुल गयी थी। फिर मैंने उससे उसकी सेक्स लाईफ के बारे मे पूछा तो वो बहाने बनाने लगी। फिर उसने मुझे धीरे धीरे सब कुछ बताया, उसने बताया कि उसके पति उससे 15 साल बड़े है और मेरे मम्मी पापा ने उनके पैसे देखकर उनसे मेरी शादी कर दी थी। फिर मैंने उससे पूछा कि क्या तुम्हारे पति तुमसे रोज़ सेक्स करते है, तभी वो बोली कि महीने मे एक या दो बार और उन्हे इन सब चीज़ो मे रूचि नहीं है।
जब में अपने पति को कई बार सेक्स करने को बोलती हूँ, तब जाकर वो सेक्स करते है और जल्दी ही झड़ जाते है। फिर में समझ गया कि ये सेक्स कि प्यासी है और अगर इसे कामुक किया जाए तो काम बन सकता है और अब में उसे फोन पर रोज़ कामुक बातें करता था। मुझे पता था कि ये मेरी लाईन पर आ जाएगी।

तभी एक दिन उसका फोन आया और उसने मुझे मिलने के लिए बुलाया और मैंने उससे पूछा कि कहाँ आना है, तभी उसने मुझे बोला कि तुम मेरे घर से थोड़ी दूर पर आना है और तभी मैंने बोला कि मुझे तुम्हारा पता नहीं मालूम है। फिर उसने मुझे अपना पूरा पता बताया और उसके बताए समय और पते पर में पहुँच गया था।
जब वो मेरे करीब आ रही थी, तो में उसे देखता ही रह गया और मैंने ये अंदाज़ा लगाया कि उसके फिगर का साइज़ करीब 36-32-34 होगा। उसने डार्क रेड कलर कि टॉप और जीन्स पहन रखी थी और में उसे देखता ही जा रहा था। उसकी उम्र करीब 2728 साल की होगी और फिर पास आने पर उसने मुझसे बोला कि मुझे देखना बाद मे, पहले अपनी बाइक स्टार्ट करो।indian bhabhi sex stories

तभी मैंने बाइक स्टार्ट करके आगे बढाई और वो अब मुझसे चिपक कर बैठी थी। उसके इस तरह बैठने से मुझे अब कुछ हो रहा था और मुझे कुछ भी समझ नहीं आ रहा था। तभी मैंने कहा कि तुम तो शादीशुदा नहीं लगती हो, तो उसने कहा कि मुझे पता है कि में शादीशुदा जैसी नहीं लगती हूँ और तभी मैंने उसे बताया था कि मेरे घर पर अभी एक हफ्ते तक कोई नहीं रहेगा, सभी लोग शादी मे जा रहे है और में कुछ काम से यहीं रुक रहा हूँ, इस समय घर पर कोई भी नहीं है, तो क्या में तुम्हे अपने घर ले चलूं, तभी उसने कहा ठीक है और फिर हम घर पहुँचे और वो अंदर आई और अब में पीछे ही खड़ा उसकी गांड देख रहा था। उसकी गांड ऐसी थी कि उसकी गांड के ऊपर नीचे होने से कोई भी इंसान अपने लंड को खड़े होने से रोक नहीं सकता था।Bhabhi Video

उसकी गांड तो लाजवाब थी। उसके बाद में अंदर गया और मैंने उससे बैठने के लिए बोला और फिर में भी बैठ गया और कुछ बात करने के बाद उसने डाइरेक्ट मुझसे बोला कि मुझे तुम्हारा लंड देखना है, तो मैंने कहा तुम खुद निकाल कर देख लो, तो और तभी वो आगे बढ़ी और मेरी जीन्स के ऊपर से ही मेरे लंड को महसूस करने लगी थी और फिर उसने मेरी जिन्स कि जिप को खोला और मेरी अंडरवियर के अंदर हाथ डालकर लंड को निकालने लगी थी और अब उसके हाथों का स्पर्श पाकर मेरी पूरी बॉडी मे करंट दौड़ गया था और अब उसका हाथ लंड को छूते ही मेरा लंड खड़ा हो गया और वो मेरे लंड को देखकर बोली, देखो तो कितना अकड़ रहा है।



फिर बोली कि तुम्हारा लंड तो बहुत मस्त है, लंबा मोटा और काफ़ी हार्ड भी है। मेरे पति का तो 3.5 इंच का है। वो मेरे लंड को सहलाए जा रही थी। उसका एक हाथ मेरे लंड पर और एक हाथ मेरे लंड के बालो पर था, मुझे तो बड़ा मज़ा आ रहा था। मेरा लंड तो इतना खड़ा हो गया था कि मेरे पेट से थोड़ी दूरी पर था फिर उसने अपना मुहं खोल कर मेरे लंड को अपने मुहं मे ले लिया था।
अब मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटने लगी और लंड को चूसने लगी थी। मेरे लंड को उसने अपने दोनो हाथ के अंगूठो से फैलाया और होल के अंदर अपनी जीभ डालकर उसे चूसने लगी। उसने बोला कि तुम्हारे लंड का होल तो मेरी चूत से भी ज़्यादा लाल हो गया है और उसने अपना मुहं खोल कर लंड को पूरा मुहं मे ले लिया और चूसने लगी, जब वो मेरे लंड को चूस रही थी, तब उसके हल्के हल्के दाँत मेरे लंड पर गड़ रहे थे। जिससे मुझे इतना मज़ा आ रहा था कि मेरे मुहं से आवाज़े निकल रही थी।Hindisex Stories

में तो उसकी इन हरकतो से चिल्ला उठा, वो लंड को चूसने के साथ साथ मेरे लंड के बाल को एक एक करके हल्के से दबा रही थी। उसके लंड को चूसने कि स्पीड बहुत अच्छी थी। मैंने अभी तक उसे कुछ नहीं किया था। वो लगातार 10 मिनट तक मेरे लंड को चूसे जा रही थी। तभी मैंने उसके सर को हटाया लेकिन तुरंत उसने मेरा लंड मुहं मे वापस ले लिया और फिर से चूसने लगी। मुझे लंड पर जलन महसूस होने लगी थी और तभी मैंने उसे धक्का दिया और उसके होंठो पर किस करने लगा था।Saxy Storys

मैं तो बस पागल हो रहा था !की कोई ऐसी चूत को कैसे छोड़ सकता है !मैं भी उससे जोर जोर से किस  करने लगा माँ कसम क्या चीज थी उसे देखके ही किसी बूढ़े का लंड भी खड़ा होजाये !

अब मैंने अपनी जीभ पूरी उसके मुहं के अंदर डाल दी और उसकी जीभ से खेलने लगा, वो मेरी जीभ को चूसे जा रही थी और में अपनी जीभ पूरे उसके मुहं मे घुमा रहा था और उसने अपनी जीभ मेरे मुहं मे डाल दी, हम दोनों का ये किस करीब 8 से 9 मिनट तक चला। अब में उसके बूब्स को उसके टॉप के ऊपर से ही मसलने लगा था और फिर कुछ देर बाद मैंने टॉप के अंदर हाथ डाल कर डाइरेक्ट उसके निप्पल पकड़ लिए और उन्हें मसलने लगा था। अब मैंने उसका टॉप उतार दिया और उसे बोला कि तुम थोड़ा रूको में अभी आता हूँ और फिर में भाग कर फ्रीज़ के पास गया और मैंने सॉस कि बोतल ली और अपने रूम से मैंने एक पट्टी उठा ली और अब मैंने उसकी आँखो मे पट्टी बांध दी थी।
तभी उसने बोला कि तुम क्या कर रहे हो मैंने बोला कि तुम बस ऐसे ही लेटी रहो वो चुपचाप लेटी रही मैंने उसके निप्पल को कई बार जोर से खींचा फिर मैंने उसके दोनो निप्पल के ऊपर टोमेटो सॉस लगा दिया और उसे चूसने लगा और अपने दातों से हल्के हल्के काटने लगा, उसके निप्पल हल्के गरम हो गये थे और में उसके दोनो निप्पल को चूसे जा रहा था। अब में उठा और फ्रीज़ से कप मे कुछ आईस के छोटे छोटे टुकड़े लेकर आया था।
में उसके बूब्स के निप्पल पर आईस को टच करने लगा, तभी उसके मुहं से सिसकारीयां निकल गयी, में उसके निप्पल के आस पास आईस घुमाने लगा और फिर उसके बूब्स के पास से उसकी नाभि तक मैंने सॉस लगा दिया और उसके नाभि मे पूरा ऊपर तक सॉस भर दिया और फिर उसकी नाभि से पूरा सॉस चाट कर साफ कर दिया और उसकी नाभि को चूसने लगा। अब उसकी सिसकारीयां और बड़ गयी थी और वो कामुक होती जा रही थी और फिर मैंने उसे उठाया और अपने बेडरूम मे ले गया और कप ले कर आ गया, उसके बाद मैंने उसकी नाभि को चाटने के बाद उसकी जीन्स भी उतारी दी थीAdult Stories

अब उसके गोरे बदन पर ब्लैक पेंटी मुझे पागल कर रही थी और अब में अपने एक हाथ से पेंटी के ऊपर से ही चूत को मसले जा रहा था। उसकी चूत के पानी से उसकी पेंटी बहुत गीली हो चुकि थी। अब में अपनी जीभ उसके जाघ पर घुमाने लगा और पूरी जाँघो को चाटने लगा। उसकी पेंटी के ऊपर से में उसकी चूत को चाटने लगा था। वो तड़प उठी थी, अब मैंने उसकी पेंटी उतारी और उसकी चूत देखता ही रह गया। उसकी चूत पूरी क्लीन थी और उसकी चूत के ऊपर की स्किन हल्की गुलाबी थी उसका पति पागल था, जो कि इतनी प्यारी सी चूत को नहीं सम्भाल सका था।
अब मैंने उसकी चूत के ऊपर कि स्किन को हल्का सा मसल के खींचा और उसकी चूत को रगड़ने लगा। वो सिसकियाँ लेने लगी और कहने लगी कि प्लीज़ ऐसा मत करो, अब वो पट्टी खोल रही थी। तभी मैंने मना कर दिया पट्टी निकालने से उसके बाद मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये और अपना लंड उसके बूब्स के ऊपर रगड़ने लगा फिर मैंने एक आईस का टुकड़ा उठाया और उसकी नाभि पर रख दिया था। अब उसका शरीर कांप रहा था और मैंने आईस के टुकड़े को नाभि से आगे बढ़ाते हुए उसकी जाँघो तक लेकर आ गया था और उसकी जांघो पर फेरने लगा और उसके पैरो को फैला कर उसकी चूत कि स्किन को अपने होंठो और दांतों से दबाने लगा था और अब उसकी चूत से पानी निकल रहा था और मैंने सारा पानी चाट कर पूरी चूत को साफ किया उसे बहुत मज़ा आ रहा था। अब में अपनी जीभ को चूत के अंदर डालकर चूत को जीभ से चोदने लगा था और वो तड़प उठी और अपनी चूत को उठाने लगी और अपने दोनों हाथो से मेरे सिर को अपनी चूत मे दबा रही थी और मेरे पूरे होंठ चूत के पानी से भीगे हुए थे उसके बाद मैंने चाटते हुए एक उंगली उसकी चूत मे डाल दी और उसकी चूत कि में उंगली से चुदाई कर रहा था और वो सिसकारीयां भरने लगी थी।Adult

अब मैंने बीच कि उंगली चूत में डालकर स्पीड बढ़ा दी, अब वो मदहोश हो रही थी। उसकी आवाज़ पूरे कमरे मे गूँज रही थी। वो चिल्ला रही थी कि प्लीज़ मुझे अब मत तड़पाओ कि में मर जाऊं, प्लीज़ अपना लंड मेरी चूत मे डालो और मेरी चूत की प्यास बुझाओ मुझे जानवरो की तरह चोदो उसकी तड़प बडती ही जा रही थी। अब मैंने आईस के दो टुकड़े उठाए और उसकी चूत के मुहं पर घुमाने लगा था और फिर उसकी चूत को फैलाने के बाद दो टुकड़ो को मैंने उसकी चूत मे डाल दिया, वो तड़प गयी और उसका पूरा शरीर काँपने लगा था और आईस के टुकड़े डालने के तुरंत बाद मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत की गहराइयों मे उतरता गया।Stories Online
उसके मुहं से चीख निकल गयी और मुझे हटने के लिए बोलने लगी, मुझे पता था कि मेरे लंड के साथ साथ आईस का भी असर हो रहा था। में रुक नहीं रहा था उसे चोदे जा रहा था। अब मैंने उसके दोनों पैर अपने कंधे पर रख कर लंड डाले जा रहा था। उसके कुछ देर बाद मैंने अपनी पोज़िशन बदली दी थी और उसे डॉगी स्टाइल मे बैठा दिया और उसके दोनों पैरो को थोड़ा फैला कर अपना लंड पीछे से चूत में डाला और उसकी कमर को हवा मे उठा कर अपनी बॉडी का बॅलेन्स बना कर उसे चोदने लगा था। अब मेरा लंड उसकी पूरी जड़ तक पहुँच रहा था। मेरी इस चुदाई से उसे बहुत मज़ा आ रहा था सच मे दोस्तो अगर आप इस पोज़िशन को अपनावोगे तो चुदाई मे और भी मज़ा आएगा। उसके बाद मैंने अपनी स्पीड बड़ा दी मेरी स्पीड से कमरे मे फ़च फ़च कि आवाज़ आ रही थी और अब उसने अपनी पट्टी हटा दी और अपनी चूत कि तरफ देखने लगी थी।

स्पीड तेज होने से उसे बहुत मज़ा आ रहा था और अहहह और तेज चोदो फाड़ दो चूत को आज कहने लगी थी और फिर मैंने उसे करीब आधे घंटे तक लगातार चोदा, वो इस दौरान तीन बार झड़ गयी थी। लेकिन तभी कुछ देर बाद में भी झड़ने वाला था। तो मैंने उसको कहा कि में झड़ने वाला हूँ, तो उसने मेरा लंड अपनी चूत से बाहर निकाला और मुहं मे लेकर चूसने लगी और में उसके मुहं मे ही झड़ गया था और उसने पूरे लंड का वीर्य पी लिया और मेरे लंड के मुहं को चाटने लगी थी और मुझे उसने बोला कि शायद तुम्हारे जैसी चुदाई कोई नहीं कर सकता है।

आज तुम्हारे कारण ही मेरी चूत की प्यास बुझी है और आज में पूरी संतुष्ट हो गयी हूँ। फिर उसने अपने कपड़े पहने फिर में उसे घर छोड़ आया उसके बाद उसे जब भी चूत कि प्यास लगती वो मुझे फोन कर देती थी और हमारा चुदाई का प्रोग्राम चालू हो जाता था। 

Share:

Wednesday, 7 September 2016

अँधेरी रात ससुर के साथ चूत बेहाल लंड कैसा था ये सवाल ?

आज जो मैं आपको स्टोरी बताने जा रही हु वो बिलकुल सच्ची है !जो मैंने कभी सच भी नहीं था वो मेरा साथ हु जो मैं आपके साथ शेयर करना चाहती हु ये मेरी  यानि की कोमल नाम है मेरा मैं दिखने मैं बहुत खूबसूरत थी सभी कॉलेज के लड़के मुझे  लेकिन मैं किसी को भी भाव नहीं देती खयुकि मेरी एक ख्वाहिश थी की मैं अपने पति को हमेशा खुश रखु  और मैं अपनी चूत का उद्घाटन उन्ही के हाथो से करना चाहती थी इसलिए मैं कोई लड़के  आँख उठाकर भी देखना पसंद करती लेकिन सभी लड़को को बस मैं ही दिखती थी जैसे ही हवा आयी मेरा घागरा उठगया सभी बस देखते रहते  मानो किसी परी के दर्शन होगये वो मेरे ऐसे ही कभी कभी झाँगो के दर्शन लेकर खुश थे ! desi indian bhabhi stories

कभी कभार जब बास्केटबाल खेलते हुए या कभी हवा के झोंके सी कोमल की स्किर्ट उठ जाती तो किस्मत वालों को उसकी पैंटी के दर्शन हो जाते. लड़के तो लड़के, School के Teacher भी कोमल की जवानी के असर से नहीं बचे थे. कोमल के भारी नितम्ब, पतली कमर और उभरती चूचियां देखके उनके सीने पे चहुरियन चल जाती. कोमल को भी अपनी जवानी पे नाज़ था. वो भी लोगों का दिल जलाने में कोई कसर नहीं छोड़ती थी.
Bhabhi Stories

अब मेरी पढाई पूरी की फिर घरवालोने मेरी शादी करा दी आज मैं बहुत खुश  मेरे पति आज मेरी चूत की प्यास बुझाएंगे  मैंने अपने जवानी के बदन को बहुत संभालकर रखा था ! मैं हमेशा चाहती थी की मैं ये तोफा अपने पति को सुहागरात पे दू जब सुहागरात का टाइम आया तो मेरे तो होश उड़गये इतना मोटा लंबा लंड लेकिन मैं मन हि मन मुस्कुरा रही थी क्योंकि मैंने जैसा सोचा था वैसा ही हो रहा है मुझे अब लगा की मैं शादी करके बहुत खुश रहूंगी Desi Hindi

उसदिन मेरे पति ने मुझसे पूछा कोमल घूंघट हटाओ तो मैंने भी शरमाते हुए अपना घूँघट हटा दिया उन्होंने मेरे सामने अपना लैंड रख दिया कहा कैसा लगा आज से ये तुम्हारा है !मैं शर्मा गयी तो उन्होंने कहा शर्माओ नहीं और उन्होंने मेरी साडी खोल दी आज मैं किसी मर्द के साथ नंगी थी उन्होंने भी अपने सारे कपडे उतार दिए फिर मैंने अपनी ब्रा खोलदी मेरे जो बॉब्स थे वो भी इसी इन्तेजार मैं थे की कब कोई इन्हें चूसेगा  मसलेगा वो तो मेरे बॉब्स देखकर हैरान इतने गोर और मुलायम बॉब्स इन्हें आज मैं नहीं छोडूंगा !Bhabhi
Desi Bhabhi
कहा  की कोमल ये मेरे हैं न क्या मैं इन्हें चूस सकता हु मैंने भी शर्माते हुए कहा जी आजसे तो मैं भी आपकी ही हु और फिर क्या था उन्होंने मुझे किस्स करना शुरू कर दिया मुझे बहुत अच्छा लगने लगा क्योंकि मैं शादी से पहले ये सब नहीं किया था !तो मुझे इसमें और मज़ा आने लगा  भी मुझे किस्स करते रहे १० मीन बाद  मुझे चूमते हुए मेरी जांघो के पास गए और मेरी पैंटी उतार  मैं अपनी चूत को हमेशा क्लीन शेव रखना पसंद करती हु वो तो ये देखकर बहुत खुश होगये आज मैं इस चूत को अपने लंड की रानी बनाऊंगा !Desi Stories
indian bhabhi storie
और फिर उन्हें शायद मेरी चूत ज्यादा ही पसंद थी वो उन्होंने अपनी लंबी सी जीभ निकाली और उससे चाटने लगे अब मैं गरम हो चुकी थी ये सब से मुझे काफी मज़ा आरहा था आह आह आह आह उन्हें मेरी आवाजे सुनकर और  लगा करीब १०/१५/मीन तक उन्होंने उसे चाटने के बाद अपना लंड दिखाया और कहा ये भी तो आज से तुम्हारा है क्या तुम्हे ये पसनद नही मैंने कहा नहीं ये मुझे बहुत पसंद है तो फिर तुम क्या कर रही हो आओ ये भी तुम्हारा इंतज़ार कर रहा है ! Savita
Savita Stories
मैंने भी बिना शरमाये उसे सहलाते हुए उसको  किस्स किया उन्हें शायद ये अच्छा लगा उन्होंने कहा बस इतना ही मैं समझ गयी की ये क्या कहना चाहते है तो मैंने उसे हिलाकर अपने मुहमे ले  लिया तो उन्होंने मेरी गर्दन पकड़ी और अपने लंड को मेरे मुहमे धकेलने लगे मैं भी उनका पूरा साथ देने कलगी फिर हम ने किस्स किया और मुझे बेड पर धकेल दिया और अपना लंड मेरी चूत पे लगा दिया और एक धक्का दिया मेरी चीख निकल गयी कहा क्या तुम्हे दर्द हो रहा है है बहुत दर्द हो रहा है !तो वो थोड़ी देर रुक गए फिर मैंने उन्हें करने को कहा तो वापस से वही दर्द होने लगा क्योंकि मेरी चूत आज तक कोई छुआ भी नहीं था तो लंड तो बहुत दूर की बात है !Comic Savita

मैं दर्द से तड़प रही थी लेकिन वो तो लंड को अंदर डालने की कोशिश कर रहे थे मेरी चूत की सील टूटी नही इस वजह से लंड अंदर नहीं जा  रहा था फिर उन्होंने तेल की बोतल लायी और अपने लंड को उससे मालिश की और मेरी चूत पर भी थोड़ा लगाया और कहा अब तुम चिल्लाना मत मैं बहुत डर रही थी !Stories Hindi

ऐसे भी उनका लंड मोटा था और मेरी चूत कुंवारी थी फिर अब क्या था उन्होंने जैसे ही मेरी चूत पर लंड रखा और एक जोर से धक्का दिया अब मैं आह आह मर गयी अपने आपको कण्ट्रोल करके बारीक़ आवाज निकली लेकिन जैसे ही उन्होंने लंड को बाहर काढ़ा तो मैं तो डर  गयी उनके लंड के ऊपर खून लगा हुआ था ! मेरी तो बाल्टी बंद हो गयी मैं शत से उठ गयी और देखा की चूत से खून निकल रहा है उन्होंने कहा घरो मत मैं हुना उन्होंने मुझे बतया की जब कोई लड़की पहली बार सेक्स करती है !
Savita Bhabhi Episode
तो उसकी चूत से खून निकलता है !अब मैं थोड़ा शांत हो गयी क्योंकि मेरे पति ने मुझे बताया की ये सब के साथ होता है और इसमें कोई डरने वाली बात नही है !फिर उन्होंने जोर से किस्स किया और मेरी चूत पे जो खून लगा हुआ था उसे कपडे से साफ़ किया मैं भी अब मुस्कुरा कर उन्हें इशारा किया की मैं अब तैयार हु !
Savitha Comic
और फिर क्या था बस तूफान ही आने वाला था अब उन्होंने मेरी चूत मैं अपना मोटा लंबा लंड रखकर पेल दिया एक ही झटके मैं पूरा का पूरा लंड मेरी चूत मैं घुस गया मैं तो अब चिल्ला भी नहीं सकती क्योंकि उन्होंने मेरे मुहमे हाथ रख दिया लेकिन जब वो चोद रहे थे वो बहुत खुश थे क्योंकि एक बिना टूटी ही चूत का ताला उन्होंने खोला था अपने मोटे से लंड से करीब आधे घंटे बाद उन्होंने मेरी चूत मैं ही अपना स्पर्म छोड़ दिया और मुझपे गिर गए ! 
Sabhita Bhavi
मैं भी बहुत थक गयी थी उसदिन  करीब रात को ३/ से ४ बार चोदा था ! और अब ये सिलसिला ऐसा ही चलता रहा डेली ३/४ बार चोदते जिसकी वजह से मैं काफी खुश थी क्योंकि मुझे वो सब ख़ुशी मिल रही थी जो मुझे चाहिए थी !धीरे ऐसा ही कम से कम १ साल तक चलता रहा मैं मोटा लंड पर खुश थी लेकिन मुझे क्या पता था की १ साल  बाद इतना कुछ बदल जायेगा आज एक साल होगया बड़ी मुश्किल से  महीने मैं १/२ बार ही मेरी चुदाई होती जिस वजह से मेरी जो सेक्स की भूक थी वो कम नहीं हो रही थी मैंने अपने !indian bhabhi sex stories

कॉलेज के दिनों मैं भी किसीसे चुदाई नहीं की थी ये सोचकर की मैं अपने पति के  साथ खुश रहूंगी और भरपूर चुदाई का मज़ा लुंगी लेकिन मेरा प्लान उल्टा होने लगा अब मेरी चूत की प्यास और बढ़गई तभी मेरे पति को काम की वजह से दिल्ली जाना पड़ा लेकिन मैं खुश नहीं थी क्योंकि मेरी चूत को लंड की बहुत जरूरत थी जो अभी तक  नही हुई थी मुझे कुछ समझ नहीं आरहा की मैं क्या करू  उसे तो एक दिन में कम से कम तीन चार बार चुदाई की ज़रूरत थी.
आखिकार जब कोमल का पति जब तीन महीने के लीये टुर पे गया तो कोमल के देवर ने उसके अकेलेपन का फायदा उठा कर उसकी वासना को तृप्त किया. अब तो कोमल का देवर रामू कोमल को रोज़ चोद कर उसकी प्यास बुझाता था. एक दिन गाँव से टेलीग्राम आया की सास की तबियत कुछ ख़राब हो गई है. कोमल के ससुर एक बड़े ज़मींदार थे. गाँव में उनकी काफ़ी खेती थी. कोमल का पति राजेश काम के कारण नहीं जा सकता था और देवर रामू का कॉलेज था. कोमल को ही गाँव जाना पड़ा. वैसे भी वहां कोमल की ही ज़रूरत थी, जो सास और सुर दोनों का ख्याल कर सके और सास की जगह घर को संभाल सके.
Bhabhi Video
कोमल शादी के फौरन बाद अपने ससुराल गई थी. सास सौर की खूब सेवा करके कोमल ने उन्हें खुश कर दीया था. कोमल की खूबसूरती और भोलेपन से दोनों ही बहुत प्राभवित थे. कोमल की सास माया देवी तो उसकी प्रशंसा करते नहीं थकती थी. दोनों इतनी सुंदर, सुशील और मेहनती बहू से बहुत खुश थे. बात बात पे शर्मा जाने की अदा पे तो ससुर रामलाल फीदा थे. उन्होंने ख़ास कर कोमल को कम से कम दो महीने के लीये भेजने को कहा था. दो महीने सुन कर कोमल का कलेजा धक् रह गया था. दो महीने बिना चुदाई के रहना बहुत मुश्किल था. यहाँ तो पति की कमी उसका देवर रामू पूरी कर देता था. गाँव में दो महीने तक क्या होगा, ये सोच सोच कर कोमल परेशान थी लेकीन कोई चारा भी तो नहीं था. जाना तो था ही. राजेश ने कोमल को कानपूर में ट्रेन में बैठा दीया. अगले दिन सबह ट्रेन गोपालपुर गाँव पहुँच गई जो की कोमल की सौराल थी.
Hindisex Stories
कोमल ने चूरिदार पहन रखा था. कुरता कोमल के घुटनों से करीब आठ इंच ऊपर था और कुरते के दोनों साइड का कटाव कमर तक था. चूरिदार कोमल के नितम्ब तक तैघ्त था. चलते वक्त जब कुरते का पल्ला आगे पीछे होता या हवा के झोंके से उठ जाता तो तिघ्त चूरिदार में कसी कोमल की टांगें, मदहोश कर देने वाली मांसल जांघें और विशाल नितम्ब बहुत ही Sexy लगते. ट्रेन में सब मर्दों की नज़रें कोमल की टांगों पर लगी हुई थी. स्टेशन पर कोमल को लेने सास और ससुर दोनों आए हुए थे. कोमल अपने ससुर से परदा कत्र्ती थी इसलिए उसने चुन्नी का घूँघट अपने सिर पे ले लिया. अभी तक जो चुन्नी कोमल की छातीयों के उभार को छुपा रही थी, अब उसके घूँघट का काम करने लगी. कोमल की बड़ी बड़ी छातियन स्टेशन पे सबका ध्यान खींच रही थी. कोमल ने झुक के सास के पाँव छूए. जैसे ही कोमल पों छूने के लीये झुकी रामलाल को उसकी चूरिदार में कसी मांसल जांघें और नितम्ब नज़र आने लगे. रामलाल का दिल एक बार तो धड़क उठा. शादी के बाद से बहू किखूब्सूरती को चार चाँद लग गए थे.Saxy Storys

बदन भर गया था और्जवानी पूरी तरह नीखर आई थी. रामलाल को साफ दीख रहा था की बहू का तिघत चूरिदार और कुरता बरी मुश्किल से उसकी जवानी को समेटे हुए थे. सास से आशिर्वाद लेने के बाद कोमल ने सुर्जी के भी पैर छूए. रामलाल ने बहू को प्यार से गले लगा लीया. बहू के जवान बदन का स्पर्श पाते ही रामलाल कांप गया. कोमल की सास माया देवी बहू के आने से बहुत खुश थी. स्टेशन के बाहर नीकल कर उन्होंने तांगा कीया. पहले माया देवी टाँगे पे चढी. उसके बाद रामलाल ने बहू को चढ़ने दीया. रामलाल को मालूम था की जब बहू टाँगे पे चढ़ने के लीये टांग ऊपर करेगी तो उसे कुरते के कटाव में से बहू की पूरी टांग और नितम्ब भी देखने को मिल जाएंगे. वाही हुआ. जैसे ही कोमल ने टाँगे पे बैठने के लीये टांग ऊपर की राम्म्लाल को चूरिदार में कसी बहू की Sexy टांगों और भारी चूतडों की झलक मिल गई. यहाँ तक की रमलाल को चूरिदार के सफ़ेद महीन कपरे में से बहू की कच्छी (पैंटी) की भी झलक मिल गई. बहू ने गुलाबी रंग की कच्छी पहन रखी थी. अब तो रामलाल का लंड भी हरकत करने लगा. उसने बरी मुश्किल से अपने को संभाला. रामलाल को अपनी बहू के बरे में ऐसा सोचते हुए अपने ऊपर शरम आ रही थी. वो सोच रहा था की मैं कैसा इंसान हूँ जो अपनी ही बहू को ऐसी नज़रों से देख रहा हूँ. बहू तो बेटी के समान होती है. लेकीन क्या करता ? था तो मरद ही. घर पहुँच कर सास ससुर ने बहू की खूब खातिरदारी की.
porn Stories
गाँव में आ कर अब कोमल को १५ दिन हो चुके थे. सास की तबियत ख़राब होने के कारण कोमल ने सारा घरका काम संभाल लीया था. उसने सास ससुर की खूब सेवा करके उन्हें खुश कर दीया था. गाँव में औरतें लहंगा चोली पहनती थी, इसलिए कोमल ने भी कभी कभी लहंगा चोली पहनना शुरू कर दीया. लहंगे चोली ने तो कोमल की जवानी पे चार चाँद लगा दिए. गोरी पतली कमर और उसके नीचे फैलते हुए भारी नितम्ब ने तो रामलाल का जीना हराम कर रखा था.

कोमल का ससुर रामलाल एक लम्बा तगर आदमी था. अब उसकी उम्र करीब ५५ साल हो चली थी. जवानी में उसे पहलवानी का शौक था. आज भी उसका जिस्म बिल्कुल गाथा हुआ था. रोज़ लंगोट बाँध के कसरत करता था और पूरे बदन की मालिश करवाता था. सबसे बरी चीज़ जिस पर उसे बहुत नाज़ था, वो थी उसके मुस्क्लेस और उसका ११ इंच लम्बा फौलादी लंड. लेकीन रामलाल की बदकिस्मती ये थी की उसकी पत्नी माया देवी उसकी वासना की भूख कभी शांत नहीं कर सकी. माया देवी धार्मिक स्वभाव की थी. उसे सेक्स का कोई शौक नहीं था. रामलाल के मोटे लंबे लौदे से डरती भी थी क्योंकि हेर बार चुदाई में बहुत दर्द होता था. वो मजाक में रामलाल को गधा कहती थी. पत्नी की बेरुखी के कारण रामलाल को अपने जिस्म की भूख मिटाने के लीये दूसरी औरतों का सहारा लेना पड़ा. राम लाल के खेतों में कई औरतें काम करती थी. In मजदूर औरतों में से सुंदर और जवान औरतों को पैसे का लालच दे कर अपने खेत के पम्प हौस में चोद्ता था. जिन औरतों को रामलाल ने एक बार चोद दीया वो तो मानो उसकी गुलाम बुन जाती थी.Adult Storie

आख़िर ऐसा लम्बा मोटा लंड बहुत किस्मत वाली औरतों को ही नसीब होता है. तीन चार औरतें तो पहली चुदाई में बेहोश भी हो गई. दो औरतें तो ऐसी थी जिनकी चूत रामलाल के फौलादी लौदे ने सुच्मुच ही फाड़ दी थी. अब तक रामलाल कम से कम बीस औरतों को चोद चुका था. लेकीन रामलाल जानता था की पैसा दे कर चोदने में वो मज़ा नहीं जो लड़की को पटा के चोदने में है. आज तक चुदाई का सबसे ज़्यादा मज़ा उसे अपनी साली को चोदने में आया था. माया देवी की बहिन सीता, माया देवी से १० साल छोटी थी. रामलाल ने जब उसे पहली बार चोदा उस वक्त उसकी उम्र १७ साल की थी. कॉलेज में पर्ती थी. गर्मिओं की छुट्टी बिताने अपने जीजा जी के पास आई थी. बिल्कुल कुंवारी चूत थी. रामलाल ने उसे भी खेत के पम्प हौस में ही चोदा था.Errotic Stories

रामलाल के मूसल ने सीता की कुंवारी नाज़ुक सी चूत को फाड़ ही दीया था. सीता बहुत चिल्लाई थी और फीर बेहोश हो गई थी. उसकी चूत से बहुत खून निकला था. रामलाल ने सीता के होश में आने से पहले ही उसकी चूत का सारा खून साफ कर दीया था ताकी वो डर न जाए. रामलाल से चुदने के बाद सीता सात दिन ठीक से चल भी नहीं पाई और जब ठीक से चलने लायक हुई तो शहर चली गई. लेकीन ज़्यादा दिन शहर में नहीं रह सकी. रामलाल के फौलादी लौडे की याद उसे फीर से अपने जीजू के पास खींच लायी. इस बार तो सीता सिर्फ़ जीजा जी से चुदवाने ही आई थी. रामलाल ने तो समझा था की साली जी नाराज़ हो कर चली गई. आते ही सीता ने रामलाल को कहा ” जीजा जी मैं सिर्फ़ आपके लीये ही आई हूँ.” उसके बाद तो करीब रोज़ ही रामलाल सीता को खेत के पम्प हौस में चोद्ता था.Exotic Stories

सीता भी पूरा मज़ा ले कर चुदवाती थी. रामलाल के खेत में काम करने वाली सभी औरतों को पटा था की जीजा जी साली की खूब चुदाई कर रहे हैं. ये सिलसिला करीब चार साल चला. सीता की शादी के बाद रामलाल फीर खेत में काम करने वालिओं को चोदने लगा. लेकीन वो मज़ा कहाँ जो सीता को चोदने में आता था. बरे नाज़ नखरों के साथ चुदवाती थी. शादी के बाद एक बार सीता गाँव आई थी. मोका देख कर रामलाल ने फीर उसे चोदा. सीता ने रामलाल को बताया था की रामलाल के लंबे मोटे लौडे के बाद उसे पति के लंड से त्रिप्ती नहीं होती थी. सीता भी राम लाल को कहती ” जीजू आपका लंड तो सुच्मुच गधे के लंड जैसा है.” गाँव में गधे कुछ ज़्यादा ही थे. जहाँ नज़र डालो वहीं चार पाँच गधे नज़र आ जाते. कुछ दिन बाद सीता के पति और सीता दुबई चले गए. उसके बाद से रामलाल को कभी भी चुदाई से तृप्ति नहीं मिली. अब तो सीता को दुबई जा कर २० साल हो चुके थे. रामलाल के लीये अब वो सिर्फ़ याद बुन कर रह गई थी.Stories Online

माया देवी तो अब पूजा पथ में ही ध्यान लगाती थी. इस उम्र में खेत में काम करने वाली औरतों को भी छोड़ना मुश्किल हो गया था. अब तो जब कभी माया देवी की कृपा होती तो साल में एक दो बार उनको चोद कर ही काम चलाना परता था. लेकीन माया देवी को चोदने में बिल्कुल भी मज़ा नहीं आता था. धीरे धीरे रामलाल को विश्वास होने लगा था की अब उसकी चोदने की उम्र नीकल गई है. लेकीन जब से बहू घर आई थी रामलाल की जवानी की यादें फीर से ताज़ा हो गई थी. बहू की जवानी तो सुच्मुच ही जान लेवा थी. सीता तो बहू के सामने कुछ भी नहीं थी. शादी कऐ बाद से तो बहू की जवानी मनो बहू के ही काबू में नहीं थी. बहू के कपरे बहू की जवानी को छुपा नहीं पाते थे. जब से बहू आई थी रामलाल की रातों की नींद उर गई थी. बहू रामलाल से परदा करती थी. मुंह तो दहक लेती थी लेकीन उसकी बड़ी बड़ी छूचियन खुली रहती थी. गोरा बदन, लंबे काले घने बाल, बड़ी बड़ी छातियन, पतली कमर और उसके नीचे फैलते हुए चूतडों बहुत जान लेवा थे. तिघत चूरिदार में तो बहू की मांसल टांगें रामलाल की वासना भड़का देती थी.
Adult Short
कोमल जी जान से अपने सास ससुर की सेवा करने में लगी हुई थी.कोमल को महसूस होने लगा था की सुर्जी उसे कुछ अजीब सी नाज्रोंसे देखते हैं. वैसे भी औरतों को मरद के इरादों का बहुत जल्दिपता लग जाता है. फीर वो अक्सर सोचती की शायद ये उसका वहम है.सुर जी तो उसके पिता के समान थे.एक दिन की बात है. कोमल ने अपने कपरे धो कर छत पर सूख्नेदाल रखे थे. इतने में घने बादल छा गए. बारिश होने कोठी. रामलाल कोमल से बोले,” बहू बारिश होने वाली है मैं ऊपर से कपडे ले आता हूँ.”” नहीं. नहीं पिताजी आप क्यों तकलीफ करते हैं मैं अभी जा के लाती हूँ.” कोमल बोली. उसे मालूम था की आज सिर्फ़ उसी के कपडे सूख रहे थे.” अरे बहू टब सारा दिन इतना काम करती हो. इसमे तकलीफ कैसी? हमें भी तो कुछ काम करने दो.” ये कह के रामलाल चाट पे चल पड़ा. छत पे पहुँच के रामलाल को पटा लगा की क्यों बहू ख़ुद ही कपरे लेन की जीद कर रही थी. डोरी पर सिर्फ़ दो ही कपरे सूख रहे थे.
Eroctic
एक बहू की कच्छी और एक उसकी ब्रा. रामलाल का दिल ज़ोर ज़ोर से धड़कने लगा.कितनी छोटी सी कच्छी थी, बहू के विशाल नितम्ब को कैसे धक्तिहोगी. रामलाल से नहीं रहा गया और उसने कोमल की पैंटी को डोरी सुतार लीया और हाथों में पैंटी के मुलायम कपरे को फील कर्नेलगा. फीर उसने पैंटी को उस जगह से सूंघ लीया जहाँ कोमल किचूत पैंटी से तौच करती थी. हालांकी पैंटी धुली हुई थी फीर भि राम्लाल औरत के बदन की खुशबू पहचान गया. रामलाल मन ही मन सोचने लगा की अगर धुली हुई कच्छी में से इतनी मादक खुश्बू आती है तो पहनी हुई कच्छी की गंध तो उसे पागल बना देगी. राम्लाल्का लौडा हरकत करने लगा. वो बहू की पैंटी और ब्रा ले कर नीचे आया,
Adult
” बहू ऊपर तो ये दो ही कपडे थे.” ससुर के हाथ में अपनी पंत्यौर ब्रा देख कर कोमल शरम से लाल हो गई. उसने घूघट तोनिकाल ही रखा था इसलिए रामलाल उसका चेहरा नहीं देख सकता था.कोमल शर्माते हुए बोली,” पिताजी इसीलिए तो मैं कह रही थी की मैं ले आती हूँ. आप्नेबेकार तकलीफ की.”
Read Adult
” नहीं बहू तकलीफ किस बात की? लेकीन ये इतनी छोटी सी कछितुम्हारी है?” अब तो कोमल का चेहरा टमाटर की तरह सुर्ख लाल होगया.
” ज्ज्ज..जी पिताजी.” कोमल सिर नीचे किए हुए बोली.” लेकीन बहू ये तो तुम्हारे लीये बहुत छोटी है. इससे तुम्हारा काम्चल तो जाता है न?”” जी पिताजी.” कोमल सोच रही थी की कीसी तरह ये धरती फत्जाए और मैं उसमे समा जाऊं.” बेटी इसमे शर्माने की क्या बात है ?. तुम्हारी उम्र में लड़किओं कि कछी अक्सर बहुत जल्दी छोटी हो जाती है. गाँव में तो और्तें कच्च्ही पहनती नहीं हैं. अगर छोटी हो गई है तो सासू माँ सेकः देना शहर जा कर और खरीद एंगी. हम गए तो हम ले आएँगे.लो ये सूख गई है, रख लो.” ये कह कर रामलाल ने कोमल को उस्कि पंटी और ब्रा दे दी. इस घटना के बाद रामलाल ने कोमल के साथ और्खुल कर बातें करना शुरू कर दीया था एक दिन माया देवी को शहर सत्संग में जन था. रामलाल उनको ले कर शहर जाने वाला था.
Errotic Literature
दोनों घर से सबह स्टेशन की और चल पड़े.रास्ते में रामलाल के जान पहचान का लड़का कार से शहर जाता हामिल गया. रामलाल ने कहा की Aunty को भी साथ ले जाओ. लड़का मंगाया और माया देवी उसके साथ कार में शहर चली गई. रामलाल घर्वापस आ गया. दरवाज़ा उंदर से बूंद था. बाथरूम से पानी गिरने किअवाज़ आ रही थी. शायद बहू नहा रही थी. कोमल तो समझ रहिथि की सास ससुर शाम तक ही वापस लौटेंगे. रामलाल के कमरे का एक्दार्वाज़ा गली में भी खुलता था. रामलाल कमरे का टला खोल के अप्नेकमरे में आ गया. उधर कोमल बेखबर थी. वो तो समझ रही थीकि घर में कोई नहीं है. नहा कर कोमल सिर्फ़ पेटीकोट और ब्लाउज में ही बाथरूम से बाहर नीकल आई. उसका बदन अब भी गीला था. बाल भीगे हुए थे. कोमल अपनी पैंटी और ब्रा जो अभी उसने धोई थी सुखाने के लीये आँगन में आ गई. रामलाल अपने कमरे के परदे के पीछे से सारा नज़ारा देख रहा था. बहू को पेटीकोट और ब्लाउज में देख कर रामलाल को पसीना आ गया. क्या बाला की खूबसूरत थी.

बहुत कसा हुआ पेटीकोट पहनती थी. बदन गीला होने के कारण पेटीकोट उसके चूतडों से चिपका जा रहा था. बहू के फैले हुए चूतडों पेटीकोट में बरी मुश्किल से समा रहे थे. बहू का मादक रूप मनो उसके ब्लाउज और पेटीकोट में से बाहर निकलने की कोशिश कर रहा था. उफ क्या गद्राया हुआ बदन था. बहू ने अपनी धुली हुई कच्छी और ब्रा डोरी पर सूखने दाल दी. अचानक वो कुछ उठाने के लीये झुकी तो पेटीकोट उसके विशाल चूतडों पर कास गया. पेटीकोट के सफ़ेद कपरे में से रामलाल को साफ दीख रहा था की आज बहू ने काले रंग की कच्छी पहन रखी है. उफ बहू के सिर्फ़ बीस प्रतिशत चूतडों ही कच्छी में थे बाकी तो बाहर गिर रहे थे. जब बहू सीधी हुई तो उसकी कच्छी और पेटीकोट उसके विशाल चूतडों के बीच में phans gaye. अब तो रामलाल का लौडा फन्फनाने लगा. उसका मन कर रहा था की वो जा कर बहू के चूतडों की दरार में फँसी पेटीकोट और कच्छी को खींच के निकाल ले.
Erotc Literature
बहू ने मानो रामलाल के दिल की आवाज़ सुन ली. उसने अपनी चूतडों की दरार में फँसे पेटीकोट को कींच के बाहर निकाला लीया. बहू आँगन में खरी थी इसलिए पेटीकोट में से उसकी मांसल टांगें भी नज़र आ रही थी. रामलाल के लंड में इतना तनाव सीता को चोदते वक्त भी नहीं हुआ था. बहू के Sexy चूतडों को देख के रामलाल सोचने लगा की इसकी गांड मार के तो आदमी धन्य हो जाए. रामलाल ने आज तक कीसी औरत की गांड नहीं मारी थी. असलियत तो ये थी की रामलाल का गधे जैसा लौडा देख कर कोई औरत गांड मरवाने के लीये राज़ी ही नहीं थी. माया देवी तो चूत ही बरी मुश्किल से देती थी गांड देना तो बहुत दूर की बात थी. एक दिन कोमल ने खेतों में जाने की इच्छा प्रकट की. उसने सासू माँ से कहा, ” मम्मी जी मैं खेतों में जाना चाहती हूँ, अगर आप इजाज़त देन तो आपके खेत और फसल देख औन. शहर में तो ये देखने को मिलता नहीं है.”

” अरे बेटी इसमें इजाज़त की क्या बात है? तुम्हारे ही खेत हैं जब चाहो चली जाओ. मैं अभी तुम्हारे ससुर जी से कहती हूँ तुम्हें खेत दिखाने ले जाएँ.”
” नहीं नहीं मम्मी जी आप पिताजी को क्यों परेशान करती हैं मैं अकेली ही चली जाउंगी.”
” इसमे परेशान करने की क्या बात है? कई दिन से ये भी खेत नहीं गए हैं तुझे भी साथ ले जाएंगे. जाओ टब तैयार हो जाओ. और हाँ लहंगा चोली पहन लेना, खेतों में जाने के लीये वही ठीक रहता है.” कोमल तैयार होने गई. माया देवी ने रामलाल को कहा,
” अजी सुनते हो, आज बहू को खेत दिखा लाओ. कह रही थी मैं अकेली ही चली जाती हूँ. मैंने ही उसको रोका और कहा ससुरजी तुझे ले जाएंगे.”

” ठीक है मैं ले जाऊंगा, लेकीन अकेली भी चली जाती तो क्या हो जाता ? गाँव में किस बात का डर?””
” कैसी बातें करते हो जी? जवान बहू को अकेले भेजना चाहते हो. अभी नादाँ है. अपनी जवानी तो उससे संभाली नहीं जाती, अपने आप को क्या संभालेगी? ” इतने में कोमल आ गई. लहंगा चोली में बला की खूबसूरत लग रही थी.
” चलिए पिताजी मैं टायर हूँ.”

” चलो बहू हम भी टायर हैं.” ससुर और बहू दोनों खेत की और नीकल परे. कोमल आगे आगे चल रही थी और रामलाल उसके पीछे. कोमल ने घूंघट निकाल रखा था. रामलाल बहू की मस्तानी चाल देख कर पागल हुआ जा रहा था. बहू की पतली गोरी कमर बल खा रही थी. उसके नीचे फैले हुए मोटे मोटे चूतडों चलते वक्त ऊपर नीचे हो रहे थे. लहंगा घुटनों से थोड़ा ही नीचे था. बहू की गोरी गोरी टांगें और चूतडों तक लटकते लंबे घने काले बाल रामलाल की दिल की धड़कन बारह रहे थे. ऐसा नज़ारा तो रामलाल को ज़िंदगी में पहले कभी नसीब नहीं हुआ. रामलाल की नज़रें बहू के मटकते हुए मोटे मोटे चूतडों और पतली बल खाती कमर पर ही टिकी हुई थी.

Un जान लेवा चूतडों को मटकते देख कर रामलाल की आंखों के सामने उस दिन का नजारा घूम गया जिस दिन उसने बहू के चूतडों के बीच उसके पेटीकोट और कच्छी को फँसे हुए देखा था. रामलाल का लौडा खड़ा होने लगा. कोमल घूंघट निकाले आगे आगे चली जा रही थी. वो अच्छी तरह जानती थी की ससुर जी की आँखें उसके मटकते हुए नितम्ब पे लगी हुई हैं. रास्ता संकरा हो गया था और अब वो दोनों एक पूग डंडी पे चल रहे थे. अचानक साइड की पूग डंडी से दो गधे कोमल के सामने आ गए. रास्ता इतना कम चौरा था की साइड से आगे निकलना भी मुश्किल था. मजबूरन कोमल को गधों के पीछे पीछे चलना पड़ा. अचानक कोमल का ध्यान पीछे वाले गधे पे गया.

” अरे पिताजी देखिये ये कैसा गधा है ? इसकी तो पाँच टांगें हैं.” कोमल आगे चल रहे गधे की और इशारा करते हुए बोली.
” बेटी, टब तो बहुत भोली हो, ज़रा ध्यान से देखो इसकी पाँच टांगें नहीं हैं.” कोमल ने फीर ध्यान से देखा तो उसका कलेजा दहक सा रह गया. गधे की पाँच टांगें नहीं थी, वो तो गधे का लंड था. बाप रे क्या लम्बा लंड था ! ऐसा लग रहा था जैसे उसकी टांग हो. कोमल ने ये भी नोटिस कीया की आगे वाला गधा, गधा नहीं बल्कि गधी थी क्योंकि उसका लंड नहीं था. गधे का लंड खरा हुआ था. कोमल समझ गई की गधा क्या करने वाला था. अब तो कोमल के पसीने चूत गए. पीछे पीछे ससुर जी चल रहे थे. कोमल अपने आप को कोसने लगी की ससुर जी से क्या सवाल पूछ लीया. कोमल का शरम के मरे बुरा हाल था. रामलाल को अच्छा मोका मिल गया था. उसने फीर से कहा,

” बोलो, बहू हैं क्या इसकी पाँच टांगें ?” कोमल का मुंह शरम से लाल हो गया, और हक्लाती हुई बोली,
” जज..जी चार ही हैं.”
” तो वो पांचवी चीज़ क्या है बहु?”
” ज्ज्ज…जी वो तो ……जी हमें नहीं पटा.”
„ पहले कभी देखा नहीं बेटी ?” रामलाल मेज़ लेता हुआ बोला.
” नहीं पिताजी.” कोमल शर्माते हुए बोली.
” मर्दों की टांगों के बीच में जो होता है वो तो देखा है न?”
” जी..” अब तो कोमल का मुंह लाल हो गया.

अरे बहू जो चीज़ मर्दों के टांगों के बीच में होती है ये वाही चीज़ तो है.” रामलाल कोमल के साथ इस तरह की बातें कर ही रहा था की वाही हुआ जो कोमल मन ही मन मन रही थी की ना हो. गधा अचानक गधी पे चढ़ गया और उसने अपना तीन फ़ुट लम्बा लंड गधी की चूत में पेल दीया. गधा वहीं खरा हो कर गधी के उंदर अपना लंड पेलने लगा. इतना लम्बा लंड गधी की चूत में जाता देख कोमल हार्बर कर रुक गई और उसके मुंह से चीख नीकल गई,
” ऊओईइ मा….”
” क्या हुआ बहू ?”
” ज्ज्ज..जी कुछ नहीं.” कोमल घबराते हुए बोली.
” लगता है हमारी बहू डर गई.” रामलाल मौके का पूरा फायदा उठता हुआ दरी हुई कोमल का साहस बर्हाने के बहाने उसकी पीठ पे हाथ रखता हुआ बोला.
” जी पिताजी.”
” क्यों डरने की क्या बात है ?”
” वैसे ही.”

” वैसे ही क्या मतलब ? कोई तो बात ज़रूर है. पहली बार देख रही हो न?” रामलाल कोमल की पीठ सहलाता हुआ बोला.
” जी.” कोमल शर्माते हुए बोली.
” अरे इसमें शर्माने की क्या बात है बहु. जो राकेश तुम्हारे साथ हेर रात करता है वाही ये गधा भी गधी के साथ कर रहा है.”
” लेकीन इसका तो इतना…….” कोमल के मुंह से अनायास ही नीकल गया और फीर वो पच्छ्तायी..
” बहुत बड़ा है बहु?” रामलाल कोमल की बात पूरी करता हुआ बोला.
अब रामलाल का हाथ फिसल कर कोमल के नितम्ब पे आ गया था.
” ज्ज्जी….” कोमल सिर नीचे किए हुए बोली.
” ओ ! तो इसका इतना बार देख के डर गई ? कुछ मर्दों का भी गधे जैसा ही होता है बहु. इसमें डरने की क्या बात है ?. जब औरत बरे से बार झेल लेती है, फीर ये तो गधी है.”
कोमल का चेहरा शरम से लाल हो गया था. वो बोली,
” चलिए पिताजी वापस चलते हैं, हमें बहुत शरम आ रही है.”

” क्यों बहू वापस जाने की क्या बात है? तुम तो बहुत शर्माती हो. बस दो मिनट में इस गधे का काम खत्म हो जाएगा फीर खेत में चैलेन्ज.” बातों बातों में रामलाल एक दो बार कोमल के नितम्ब पे हाथ भी फेर चुक्का था. रामलाल का लंड कोमल के मुलायम नितम्ब पर हाथ फेर के खड़ा होने लगा था. वो कोमल की पैंटी भी फील कर रहा था. कोमल क्या करती ? घूंघट में से गधे को अपना लंड गधी के उंदर पेलते हुए देखती रही. इतना लम्बा लंड गधी के उंदर बाहर जाता देख उसकी चूत पे भी चीतियन रेंगने लगी थी.

कोमल को रामलाल का हाथ अपने नितम्ब पर महसूस हो रहा था. इतनी भोली तो थी नहीं. दुनियादारी अच्छी तरह से समझती थी. वो अच्छी तरह समझ रही थी की ससुर जी मौके का फायदा उठा के सहानुभूति जताने का बहाना करके उसकी पीठ और नितम्ब पे हाथ फेर रहे हैं. इतने में गधा झर गया और उसने अपना तीन फ़ुट लम्बा लंड बाहर निकाल लीया. गधे के लंड में से अब भी वीर्य गिर रहा था. ससुर जी ने दोनों गधों को रास्ते से हटाया और कोमल के चूतडों पे हथेली रख कर उसे आगे की और हलके से धक्का देता हुआ बोला,
” चलो बहू अब हम खेत चलत हैं.”
” चलिए पिताजी.”
” बहू मालूम है तुम्हारी सासू माँ भी मुझे गधा बोलती है.”
” हा.. ! क्यों ? आप तो इतने अच्छे हैं.”

” बहू तुम तो बहुत भोली हो. वो तो कीसी और वझे से मुझे गधा बोलती है.” अचानक कोमल रामलाल का मतलब समझ गई. शायद ससुर जी का लंड भी गधे के लंड के माफिक लम्बा था तुभी सासू माँ ससुर जी को गधा बोलती थी. इतनी सी बात समझ नहीं आई ये सोच कर कोमल अपने आप को मन ही मन कोसने लगी. कोमल सोच रही थी की ससुर जी उससे कुछ ज़्यादा ही खुल कर बातें करने लगे हैं. इस तरह की बातें बहू और ससुर के बीच तो नहीं होती हैं. बात बात में प्यार जताने के लीये उसकी पीठ और नितम्ब पे भी हाथ फेर देते थे.थोरी ही देर में दोनों खेत में पहुँच गए. रामलाल ने कोमल को सारा खेत दिखाया और खेत में काम करने वाली औरतों से भी मिलवाया. कोमल थक गई थी इसलिए रामलाल ने उसे एक आम के पैर के नीचे बैठा दीया.

” बहू तुम यहाँ आराम करो मैं कीसी औरत को तुम्हारे पास भेजता हूँ. मुझे थोड़ा पम्प हौस में काम है.”
” ठीक है पिताजी मैं यहाँ बैठ जाती हूँ.”
रामलाल पम्प हौस में चला गया. ……
तरह से मैंने अपने पति अलावा अपने देवर और ससुर से चुदाकर अपनी  चूत की प्यास को बुझाया 
Share:
Copyright © Indian Bhabhi Hindi Incest Savita Vellamma Naughty Sex Stories | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com